मॉब लिंचिंग: पेशेवर चोर हैं लिंचिंग की शिकार जलपाईगुड़ी की चारों महिलाएं

कोलकाता: बच्चा चोरी के संदेह में जलपाईगुड़ी जिले के धूपगुड़ी ब्लॉक स्थित दावकीमारी गांव में गत सोमवार को चार महिलाओं की सामूहिक पिटाई के मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस पूछताछ में बुधवार को इस बात का खुलासा हुआ है कि ये चारों महिलाएं चोरों के गिरोह की हैं एवं इलाके में वारदात को अंजाम देने के लिए एकत्रित हुई थीं। पुलिस पूछताछ में इस बात का खुलासा होने के बाद इन्हें गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से इनमें से दो महिलाओं को पुलिस रिमांड में भेज दिया गया जबकि दो को न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

जलपाईगुड़ी जिले के पुलिस अधीक्षक अमिताभ माइती ने बुधवार को इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि इनमें से तीन महिलाएं धुपगुड़ी की रहने वाली हैं जब भी एक सिलीगुड़ी की निवासी है। चारों मिलकर इलाके में चोरी की वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रही थीं तभी संदेह होने पर लोगों ने इन्हें धर दबोचा था और इन्हें मारा पीटा था। बाद में पुलिस ने जब उनसे पूछताछ की तो इनके बयानों में काफी विसंगतियां थीं। बाद में इनका रिकॉर्ड खंगाला गया गया तब पता चला कि ये पेशेवर चोर थीं और जिले में चोरी की कई घटनाओं में शामिल रही हैं। ये पुलिस को चकमा देने में माहिर हैं।

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कोई चोर हो या किसी भी तरह का संदिग्ध अपराधी, कानून हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है। इन लोगों के साथ मारपीट करने वाले 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। अमिताभ ने यह भी बताया कि इलाके में ऐसी वारदातें न हो, इसके लिए जिला पुलिस लोगों के साथ बैठक कर जागरूकता अभियान चलाएगी और कानून के साथ मिलकर काम करने के लिए लोगों को प्रेरित किया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper