मोदी और अमित शाह पर आचार संहिता उल्लंघन के मामले की सुप्रीम कोर्ट में 8 को सुनवाई

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ आचार संहिता उके मामले पर याचिकाकर्ता के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि चुनाव आयोग ने शिकायतों को बिना कारण बताए खारिज किया है। ऐसे ही मामलों में दूसरों को दंडित किया गया है। कोर्ट केस को लंबित रखे। बाद में उचित दिशानिर्देश तय करे। इस मामले पर अगली सुनवाई 8 में को होगा। सुनवाई के दौरान सिंघवी ने कहा कि आयोग के 6 में से पांच मामलों में अलग मत व्यक्त किया गया है। कोर्ट को शिकायतों के संदर्भ में एक दिशानिर्देश जारी करना चाहिए ताकि भविष्य में भी काम आ सके। तब कोर्ट ने कहा कि आप आयोग के आदेश की प्रति कोर्ट में पेश कीजिए।

दो मई को कोर्ट ने आचार संहिता उल्लंघन की शिकायतों पर निपटारा करने का निर्देश दिया था। सुनवाई के दौरान निर्वाचन आयोग ने कहा था कि किसी नेता के बयान चार लाइन लेकर शिकायत कर दी जाती है। निर्वाचन आयोग को पूरे भाषण का ट्रांस्क्रिप्ट देखकर फैसला करना पड़ता है। सुनवाई के दौरान कांग्रेस पार्टी की ओर से दलील दी गई कि एक अप्रैल से 11 शिकायतें दी गईं। शिकायत देने के साढ़े पांच हफ्ते बाद निर्वाचन आयोग ने 11 में से दो का निपटारा किया है। अभी भी 9 शिकायतें लंबित हैं। 30 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस सांसद और महिला विंग की नेता सुष्मिता देव की याचिका पर निर्वाचन आयोग को नोटिस जारी किया था। सुनवाई के दौरान निर्वाचन आयोग ने कहा कि इन शिकायतों पर हम विचार कर रहे हैं।

सुष्मिता देव ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि निर्वाचन आयोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में कार्रवाई करने से हिचक रही है। 29 अप्रैल को कांग्रेस की ओर से वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने इस याचिका को मेंशन करते हुए कहा था कि कांग्रेस पार्टी ने निर्वाचन आयोग को दोनों के भाषणों की शिकायत निर्वाचन आयोग से की थी। दोनों नेताओं ने निर्वाचन आयोग की रोक के बावजूद अपने भाषणों में सेना के बारे में टिप्पणी कर रहे हैं। सिंघवी ने कहा कि अहमदाबाद में मतदान के बाद 23 अप्रैल को रैली कर आदर्श आचार संहिता का उल्लघंन किया गया। कांग्रेस पार्टी ने इसकी शिकायत निर्वाचन आयोग से की लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। उल्लेखनीय है कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ सभी शिकायतों में आयोग ने क्लीन चिट दे दी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper