मोदी को अमेरिका का सहारा

खबर है कि अमेरिकी अदालत ने नीरव मोदी के स्वामित्व वाली कंपनी फायरस्टार डायमंड से लेनदारों के कर्ज वसूली पर अंतरिम रोक लगा दी है। इससे पहले फायरस्टार डायमंड ने दिवालिया घोषित होने के लिए अर्जी दी थी। यहां आपको बतलाते चलें कि पीएनबी से करीब 2 अरब रुपए की धोखाधड़ी के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के पास फायर स्टार डायमंड और इसकी अन्य सहयोगी कंपनियों में अधिकांश शेयरिंग हैं, जो कि उनकी अन्य कंपनियों के माध्यम से ली गई है।

इस पर अमेरिकी अदालत ने नीरव मोदी की कंपनी को राहत देते हुए अपने अंतरिम आदेश में कहा कि दिवाला प्रक्रिया के आवेदन के साथ ही संग्रह से जुड़ी अधिकतर गतिविधियों पर खुद ही रोक लग गई है। इसका मतलब यह है कि लेनदार आमतौर पर कर्ज लेने वाले से और उसकी संपत्तियों से कर्ज वसूली के लिए कार्रवाई नहीं कर सकते हैं। इस प्रकार अब मोदी को अमेरिका से ही सहारा है, वर्ना यहां तो अधिकांश लोग उन्हें कानूनी सजा दिलवाने के मूड में हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper