‘मोदी, नीतीश दुष्कर्मियों के संरक्षक, इस घिनौने कांड पर एक बार भी नहीं खोला मुंह’

पटना: बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री पर मुजफ्फरपुर बालिका आवास गृह में लड़कियों के यौनशोषण मामले को लेकर आड़े हाथों लेते हुए दोनों को दुष्कर्मियों का संरक्षक बता दिया।

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी ने ट्वीट किया, “मोदी और नीतीश तो दुष्कर्मियों के संरक्षक हैं। इस कांड की सीबीआई जांच चल रही है। इन्हें बचाने के लिए सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद जांच अधिकारी को रातों-रात बदला गया और यहां आकर यह फर्जी आदमी प्रवचन दे रहा है। कुछ शर्म बची है कि नहीं। आजतक मोदी इस कांड पर नहीं बोला।”

इससे पहले मंगलवार को बिहार के मुजफ्फरपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विरोधियों के महागठबंधन को महामिलावटी बताते हुए भ्रष्टाचार को लेकर जमकर सियासी हमला बोला था। राबड़ी देवी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “मोदी आज मुजफ्फरपुर में थे। मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म कांड सबको याद होगा, जहां सत्ता संरक्षण में 34 नादान बच्चियों के साथ जनबलात्कार किया गया। दुष्कर्मी, नीतीश और मोदी के मंत्री और नेता थे। लेकिन एक साल से मोदी ने इस घिनौने और जघन्य कांड पर एक बार भी मुंह खोल निंदा नहीं करी।”

एक अन्य ट्वीट में पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “मोदी बिहार आकर भाषाई आतंक फैला रहे हैं। पद की गरिमा और मर्यादा त्याग सीधे-सीधे गुंडागर्दी पर उतर आए हैं। ऐसी भाषा तो गली के गुंडों की होती है। विपक्षियों को जेल भेजने की धमकी दे रहे हैं। सुनो मोदी, हर बिहारी नीतीश की तरह डरपोक नहीं होता। बिहार की जनता तानाशाहों की हेकड़ी निकालना जानती है।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper