मोदी ने कहा- मुझे सेना पर गर्व है, हम सब मिलकर देश को आगे बढ़ाएंगे

नई दिल्ली: भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को कड़े शब्दों में फटकार लगाई। पीएम ने कहा कि दुश्मन देश को अस्थिर करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन हम रुकेंगे नहीं बल्कि और तेज गति से आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि इस समय देश की भावनाएं अलग हैं, सेना सीमा पर पराक्रम दिखा रही है। हमें चट्टान बनकर खड़े रहना है। पीएम मोदी ने कहा कि इस समय पूरा देश एक है हमें अपनी सेना पर पूरा भरोसा है। हमें ऐसा कुछ भी नहीं करना है जिससे सेना का मनोबल घटे। हमें ये बताना होगा कि देश किसी भी कीमत पर नहीं रुकेगा। दुश्मन देश हमारी प्रगति को रोकना चाहता है, लेकिन हमारा देश नई नीति और नई रीति के साथ आगे बढ़ रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ कार्यक्रम में हिस्सा लिया। मिशन 2019 के लिए पीएम देश भर के 15 हजार स्थानों पर एकत्र पार्टी कार्यकर्ताओं से विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद करे रहे हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा और समर्थ का संकल्प लेकर हमारा जवान सीमा पर मजबूती से खड़ा हुआ है। ऐसे में देश के प्रत्येक नागरिक को प्रगति पथ पर बढ़ाने के लिए अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी। हर भारतीय जिस भी क्षेत्र में काम कर रहा है वो देश के प्रगति में अधिक से अधिक योगादान दे रहा है।

पीएम ने कहा कि देश की भावनाएं एक अलग स्तर पर हैं। देश का वीर जवान सीमा पर और सीमा के पार भी अपना पराक्रम दिखा रह है। पूरा देश आज एक है और हमारे जवानों के साथ खड़ा है। दुनिया हमारी सामुहिक छमता को देख रही है। हमारी सेनाओं के सामर्थ्य पर हमें भरोसा है। इसलिए बहुत आवश्यक है कि कुछ भी ऐसा न हो जिससे उनके मनोबल पर आंच आए, क्योंकि हमारे दुश्मनों को हमारे पर ऊंगली उठाने का मौका मिल जाएगा। पीएम ने कहा कि 2014 से पहले भारत की सरकार भ्रष्टाचार में डूबी हुई थी। देश की नीतियां पैरालिसिस में डूबा हुआ था। हमने ऐसी सरकार दी जो निर्णय ले सके। पांच साल हमने देश के बेहतर बनाने के लिए काम किया है।

गुड गवर्नेंस के लिए शिवराज को मिला एपीजे अब्दुल कलाम अवार्ड

विपक्षी एकता पर मोदी ने कहा कि महागठबंधन महामिलावट है। इसे महागठबंधन बोलना बंद कर देना चाहिए। खुद का अस्तित्व बचाने के लिए छोटे-छोटे दलों के बिखरी हुई ताकत के सहारे अपने वजूद को बचाने के लिए है। ये महामिललट कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए नहीं बल्कि कांग्रेस को बचाए रखने के लिए है। कांग्रेस एक समय पंचायत से लेकर पार्लियामेंट हर जगह वही रहते थे। आज वो आक्सीजन के लिए तरस रहे हैं। पीएम ने कहा कि महामिलावट सेहत के लिए बहुत नुकसान है। ऐसी मिलावट से न देश मजबूत रहता है और न ही स्थिरता रहती है। ये मिलावट पानी और तेल की है, जो किसी काम का नहीं होता है।

बता दें कि एक करोड़ बीजेपी कार्यकर्ता नमो (NaMo) ऐप के माध्यम से पीएम मोदी के साथ जुड़ेंगे। बीजेपी इसे दुनिया की सबसे बड़ी वीडियो कॉन्फ्रेंस बता रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीजेपी के बूथ कार्यकर्ताओं को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए लोकसभा चुनाव 2019 में जीत का मंत्र दे रहे हैं। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बीजेपी दिल्ली प्रदेश कार्यालय से कार्यक्रम में शामिल होंगे। बीजेपी शासित राज्यों के सभी मुख्यमंत्री और कैबिनेट मंत्री इस कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में पीएम की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का हिस्सा बनेंगे। वहीं, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ के साथ प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर व प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर लखनऊ महानगर में कार्यकर्ताओं के साथ जुड़े।

भारतीय पायलट की रिहाई के प्रयास तेज, पाकिस्तान ने अभी तक नहीं दिया कोई जवाब

यह संवाद बीजेपी देश के सभी 14 हजार मंडलों, 896 जिलों एवं महानगरों पर आयोजित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त, जिन क्षेत्रों में शक्ति केंद्र उनके मंडल कार्यालय से 20 किलोमीटर से अधिक दूरी पर है, वहां पर यह कार्यक्रम शक्ति केंद्र पर करने का प्रावधान किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ वीडियो कॉन्फ्रेंस का लाइव प्रसारण बीजेपी के फेसबुक पेज, ट्वीटर हैंडल, यूट्यूब चैनल के साथ-साथ कई ऐप प्लेयर्स के माध्यम से किया जाएगा। पार्टी ने दावा किया कि मोदी के संबोधन विभिन्न डिजिटल प्लेटफार्मों के जरिए 10 करोड़ लोगों पहुंचेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper