‘मोदी बनाम जनता’ के बीच होगा अगला आम चुनाव : केजरीवाल

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सन 2019 का आम चुनाव ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनाम जनता’ के तौर पर होगा। चुनाव से पहले विपक्षी पार्टियों में एकजुटता की संभावनाओं से जुड़े एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस बार नरेंद्र मोदी के विरुद्ध जनादेश आएगा। बॉलीवुड फिल्म ‘पद्मावती’ विवाद पर प्रतिक्रिया करते हुए उन्होंने अतिवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के लिए सरकार पर हमला किया।

केजरीवाल ने कहा वे धर्म, जाति और नस्ल से जुड़े मुद्दों का इस्तेमाल करना चाहते हैं, लेकिन लोग उन्हें सत्ता से बेदखल कर देंगे। बॉम्बे हाईकोर्ट के एक जज की मौत से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए उन्होंने कहा पहले हम सुना करते थे कि जजों को खरीदा जा सकता है, लेकिन अब ऐसा लगता है कि उन्हें डराया-धमकाया भी जा सकता है। हम जजों की सुरक्षा में नाकाम रहते हैं, तो हम लोकतंत्र की रक्षा नहीं कर सकते।

नोटबंदी और जीएसटी को लेकर भी उन्होंने मोदी सरकार पर हमला किया। केजरीवाल ने दावा किया वह ऐसे तमाम लोगों को जानते हैं, जिनकी दुकानें और फैक्ट्रियां बंद हुई हैं (नोटबंदी और जीएसटी की वजह से) और जिनकी नौकरियां चली गईं। उन्होंने कहा जब लोगों को भोजन जैसी बुनियादी चीजें नहीं मिलती हैं, तो वे सब कुछ भूल जाते हैं। ऐसे मुद्दे लोगों को खाना नहीं देते। केजरीवाल आप नेता अंकित लाल द्वारा राजनीति में सोशल मीडिया की भूमिका पर लिखी किताब जारी करने के मौके पर बोल रहे थे।

उन्होंने कहा हाल ही में मूडी ने देश की क्रेडिट रेटिंग को बढ़ाया है। इसे पीएम नरेंद्र मोदी की नीतियों की जीत के तौर पर प्रचारित किया जा रहा है, लेकिन यह भी चुनाव को जीतने में मदद नहीं कर सकती। कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी भी वक्ता के रूप में मौजूद थे। शौरी ने कहा कि लोगों को रेटिंग एजेंसियों को गंभीरता से नहीं लेना चाहिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper