मोदी सरकार ने 16 करोड़ बैंक खातों में 36,659 करोड़ से अधिक की राशि डीबीटी द्वारा की हस्तांतरित

चंडीगढ़: मोदी सरकार द्वारा कोविड‘2019 लॉकडाऊन के दौरान 16.01 करोड़ लाभार्थियों के बैंक खातों में ‘पब्लिक फ़ाइनेंशियल मैनेजमेंट सिस्टम’ (पीएफ़एमएस) द्वारा ‘डायरैक्ट बैनेफ़िट ट्रांसफ़र’ (डीबीटी) का उपयोग करते हुए 36,659 करोड़ से अधिक रुपए हस्तांतरित किए गए हैं। प्रधानमंत्री ग़रीब कल्याण योजना पैकेज के अंतर्गत घोषित नगद-लाभ डीबीटी डिजीटल भुगतान आधारभूत संरचना का प्रयोग करते हुए हस्तांतरित किए जा रहे हैं। इस पैकेज की पहुंच अत्यंत विस्तृत है तथा यह पीएम-किसान व महिला ‘जन-धन’ खाता-धारकों के लाभार्थियों को कवर करता है। देशव्यापी लॉकडाऊन प्रारंभ होने के पश्चात् से 17 अप्रैल तक 8 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को पीएम-किसान व 19 करोड़ महिला जन-धन खाता-धारकों को वित्तीय सहायता प्रदान करवाई जा चुकी है।

हरियाणा के कुरुक्षेत्र ज़िले की नीरज देवी ने कहा कि उनका स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया (एसबीआई) में जन-धन खाता है तथा उन्हें इस पैकेज के तहत धन प्राप्त हुआ है। उन्होंने कोविड-19 लॉकडाऊन संबंधी जागरूकता भी दिखाई। भारत सरकार का आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना-वायरस से बचाव हेतु सामाजिक-दूरी रखना व हाथों को निरंतर धोना महत्त्वपूर्ण हैं। हरियाणा की लक्ष्मी देवी ने कहा कि उन्होंने अपने जन-धन खाते में 500 रुपए प्राप्त किए हैं तथा उन्होंने उस राशि से राशन ख़रीदा है।

ज़िला शिमला के गांव हलौग की सावित्री देवी ने पीएम-किसान के अंतर्गत 2,000 रुपए प्राप्त करने पर भारत सरकार का आभार व्यक्त किया। मण्डी ज़िले के गांव बन्याल के उपाध्यक्ष रमेश चन्द ने कहा कि उनकी पंचायत के 60-70 प्रतिशत लोग पीएम-किसान के साथ जुड़े हुए हैं तथा उन्होंने अपने खातों में इस माह 2,000 रुपए प्राप्त किए हैं। इस बार पूरे देश में 310 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में गेहूं की बिजाई की गई थी, जिस में से 63.67 प्रतिशत रबी की फ़सल की कटाई पहले ही की जा चुकी है। हरियाणा में कटाई 30-35 प्रतिशत तथा पंजाब में 10-15 प्रतिशत हो चुकी है। गृह मंत्रालय ने कोविड-19 की महामारी को रोकने हेतु कई संगठित दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जो कृषि गतिविधियों को सुविधापूर्वक संपन्न करना सुनिश्चित बनाते हैं।

अमृतसर के एक कृषक ने कहा कि उन्होंने अपनी कृषि गतिविधियों की गति बढ़ा दी है तथा वह सामाजिक-दूरी, साफ़-सफ़ाई इत्यादि रखने जैसी सभी आवश्यक सावधानियों का विधिवत अनुपालन कर रहे हैं। लॉकडाऊन के इस समय चल रहे द्वितीय चरण में सरकार के प्रयत्नों से निर्धनों को आवश्यक राहत-सहायता प्रदान करवाए जाने से आम लोग संतुष्ट हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper