मोदी 2.0: नए दरबार में नंबर दो का सवाल

नई दिल्ली: 17वीं लोकसभा में अपने दम पर 303 सीटें जीतने के बाद भाजपा ने केंद्र में नई सरकार बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में नई सरकार 30 मई को शपथ ले सकती है। हालांकि इस बारे में कोई औपचारिक ऐलान नहीं हुआ है। मोदी कैबिनेट के नए चेहरों और उनके मंत्रालयों पर कयासबाजी भी तेज हो गई है। इनमें सबसे बड़ा नाम अमित शाह का है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, उन्हें गृह, रक्षा या वित्त मंत्रालय सौंपा जा सकता है। अटकलें हैं कि उन्हें कैबिनेट में पीएम के बाद नंबर दो का दर्जा मिल सकता है। अब तक नंबर दो का दर्जा राजनाथ सिंह के पास रहा है। ऐसे में कैबिनेट में नंबर दो के दर्जे पर नए सिरे से सोचना होगा। अगर शाह गृह मंत्री बने तो राजनाथ रक्षा मंत्री हो सकते हैं। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को विदेश मंत्री बनाया जा सकता है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अगर कैबिनेट में शामिल होती हैं तो उन्हें राज्यसभा भेजा जा सकता है। अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष को हराने वाली स्मृति इरानी का कद भी बढ़ सकता है। शुक्रवार शाम मोदी कैबिनेट की आखिरी बैठक हुई, जिसमें राष्ट्रपति से 16वीं लोकसभा भंग करने की सिफारिश की गई। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति को इस्तीफा सौंपा और राष्ट्रपति ने उन्हें नई सरकार तक पद पर रहने को कहा। शनिवार शाम को एनडीए के नवनिर्वाचित सांसद मोदी को नेता चुनेंगे। इसके बाद राष्ट्रपति को जानकारी दी जाएगी और फिर राष्ट्रपति उन्हें सरकार बनाने का न्योता देंगे।

अमित शाह के मोदी कैबिनेट में शामिल होने की स्थिति में भाजपा को नया अध्यक्ष चुनना होगा। शाह की जगह जेपी नड्डा या भूपेंद्र यादव को पार्टी की कमान दी जा सकती है। हालांकि कुछ नेताओं का मानना है कि दिल्ली, बंगाल जैसे राज्यों में असेंबली चुनावों को देखते हुए शाह शायद ही सरकार का हिस्सा बनें। नई सरकार का शपथ समारोह पिछली बार से ज्यादा भव्य होगा। इस बार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को भी न्योता देने की तैयारी है। इससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मोदी की छवि मजबूत होगी। मोदी के पहले शपथ ग्रहण में सार्क देशों के प्रमुख आए थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper