मोबाइल में नहीं है आरोग्य सेतु एप डाउनलोड तो तुरंत कर लें नहीं तो नहीं मिलेगा इस एयरपोर्ट पर प्रवेश

नई दिल्ली: लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कंपनी के एक कर्मचारी के कोरोना संक्रमित मिलते ही सतर्कता बढ़ा दी गई है। एयरपोर्ट के सभी कर्मचारियों के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप की जांच की गई। जिन कर्मचारियों के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप लोड नहीं था उन्हें शनिवार को मुख्य टर्मिनल भवन में प्रवेश नहीं दिया गया। एयरपोर्ट पर एक विश्वस्तरीय आइटी कंपनी में कार्यरत युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया। युवक के संक्रमित होने की खबर जैसे ही एयरपोर्ट पर पहुंची हड़कंप मच गया। शुक्रवार को देर रात तक एयरपोर्ट पर सीसीटीवी फुटेज की जांच की गई तथा पूरे टर्मिनल भवन को सैनिटाइज भी किया गया।

शनिवार को सुबह से ही अधिकारियों द्वारा सभी स्तर पर जांच बढ़ा दी गई और एयरपोर्ट पर कार्यरत सभी लोगों के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप की जांच की जाने लगी। इस दौरान विमानों की ग्राउंड हैंडलिंग करने वाली एक कंपनी व पोर्टर सुविधा उपलब्ध कराने वाली कंपनी के एक दर्जन कर्मचारियों को गेट पर ही रोक दिया गया।

रोके गए अधिकतर कर्मचारियों के पास की पैड वाले मोबाइल थे जिसके चलते उनको टर्मिनल में प्रवेश नहीं दिया गया और उन्हें लौटा दिया गया। उन्हें हिदायत दी गई कि अपने पास एंड्रॉयड मोबाइल रखिए और उसमें आरोग्य सेतु एप इंस्टॉल करने पर टर्मिनल में प्रवेश दिया जाएगा। हालांकि शुक्रवार को कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद शनिवार को इन कर्मचारियों को रोकने के चलते एयरपोर्ट प्रशासन खुद सवालों के घेरे में है। यदि इन कर्मचारियों के पास स्मार्टफोन नहींं था तो फिर 25 मई से अब तक इतने लोग कैसे एयरपोर्ट पर ड्यूटी करते रहे।

विमान सेवाओं को प्रारंभ किए जाने के समय ही विमानन मंत्रालय और मुख्यालय द्वारा एयरपोर्ट पर कार्यरत सभी लोगों के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप इंस्टॉल करने की हिदायत दी गई थी। जिसके चलते एयरपोर्ट पर कार्यरत अधिकतर लोग अपने स्मार्टफोन में आरोग्य सेतु एप तो इंस्टॉल कर लिए थे लेकिन उस पर बहुत ज्यादा ध्यान नहीं देते थे। शुक्रवार को जारी सूची में एयरपोर्ट पर कार्यरत जिस कर्मचारी में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया उसे आरोग्य सेतु एप द्वारा ही अलर्ट किया गया था।

मालूम हो कि आरोग्य सेतु एप खोलने के बाद यदि होम स्क्रीन पर हरा रंग दिखाई देता है तो इसका अर्थ होता है कि आपके अंदर कोरोना वायरस का जोखिम कम है। जबकि किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के नजदीक जाने पर या उससे बात करने पर होमस्क्रीन का रंग पीला हो जाएगा। जिसका अर्थ है कि आप किसी व्यक्ति के संपर्क में आए हैं लेकिन खतरा कम है तो खुद को होम क्वॉरंटाइन कर लीजिए। वहीं, यदि होमस्क्रीन का रंग लाल हो जाना यह दर्शाता है कि आपके संक्रमित होने की संभावना अधिक है, ऐसे में तत्काल हेल्पलाइन पर संपर्क करने या नजदीकी अस्पताल में जांच कराने की सलाह दी जाती है।

एयरपोर्ट पर कार्यरत कर्मचारी के मोबाइल में इंस्टॉल आरोग्य सेतु एप के होमस्क्रीन का रंग लाल हो गया था जिसके चलते वह तत्काल मेडिकल जांच कराने गया था और कोरोना पॉजिटिव पाया गया। यही कारण है कि एयरपोर्ट पर भी अब आरोग्य सेतु एप की विश्वसनीयता बढ़ गई है और लोग सेल्फ असेसमेंट जांच भी कर रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper