मौत के 5 घंटे बाद फिर से जिंदा हो गया शख्स, परिजनों को बताई 5 घंटे की पूरी कहानी

लखनऊ: किसी न सच ही कहा है कि जाको राखै साइयां मार सके न कोय’ यह कहावत उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में चरितार्थ हो गई है। यहां एक एेसा मामला सामने आया है, जिसके बारे में पढ़कर आप हैरान रह जाएंगे। जहां एक ग्रामीण रामकिशोर अपनी मौत के 5 घंटे बाद फिर से जिंदा हो गया। वहीं मृतक के अंतिम संस्कार करने में जुटे उसके परिजनों के पूछने पर रामकिशोर ने बताया कि वे गलती से मुझे ले गए थे, अब वापस भेज दिया।

जानकारी के अनुसार अतरौली थाना क्षेत्र के गांव किरथला में 53 साल के रामकिशोर की कुछ दिन पहले अचानक मौत हो गई थी। जिसके बाद परिवार में मातम छाया हुआ था। रामकिशोर की मौत की सूचना मिलने पर करीबी रिश्तेदार गांव पहुंच गए थे। परिवार और ग्रामीणों ने अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू कर दी थी। लेकिन इस दौरान मृतक के शरीर में हलचल देखी गई। इसे देखकर वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए, तभी अचानक रामकिशोर उठकर बैठ गए और कहा कि अब वह एकदम ठीक हैं, गलती से मुझे ले गए थे, अब वापस भेज दिया है।

मृतक के जिंदा होने पर जब परिजनों ने उससे 5 घंटों के बारे में पूछा तो रामकिशोर ने बताया कि उसे ज्यादा कुछ याद नहीं हैं, लेकिन थोड़ा-थोड़ा याद है। रामकिशोर ने बताया कि जहां वो गया था वहां पर एक बैठक चल रही थी और कुछ दाढ़ी वाले महात्मा अपने प्रमुख से बातें कर रहे थे। इसके बाद सबसे बुजुर्ग महात्मा ने उनके बारे में कई सवाल किए और पूछा कि इसे क्यों लाए हो, इसे ले जाओ, अभी इसका समय नहीं हुआ है। उनके इतना कहने के बाद मुझे तुरंत एक धक्का सा लगा और जब आंखें खुली तो घर पर रोते-बिलखते परिवार वालों को देखा। वहीं दूसरी तरफ डॉक्टरों ने इसे चमत्कार मानने से इनकार कर दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper