यदि आपके शरीर के इन अंगों में दर्द रहता है तो अभी जान ले आपको कौन-सी बीमारी है

अक्सर जब हमारे शरीर के कुछ भागों में दर्द होता है तो हम इसे इग्नोर कर देते हैं। लेकिन आपको यह जानकर बहुत ही आश्चर्य होगा कि यह छोटे-छोटे दर्द आगे चलकर बहुत बड़ी बीमारियां बन सकती हैं। जी हां दोस्तों हमारे शरीर के अलग-अलग अंगों में होने वाले दर्द बड़ी बीमारियों की ओर इशारा करते हैं। तो चलिए जानते हैं शरीर के अलग-अलग हिस्सों में दर्द होने का क्या कारण होता है।

यदि आपके पेट के निचले हिस्से में बराबर दर्द हो रहा है तो अपेंडिक्स की समस्या होने का डर रहता है।

  • यदि आपके गॉल ब्लैडर और लीवर में कभी-कभी दर्द होता है तो यह लीवर में कुछ गड़बड़ी होने की तरफ इशारा करता है।
  • यदि आपके पेट में हमेशा दर्द करता है तो इससे यह पता चलता है कि आपको नाभि या पेट से संबंधित कोई समस्या हो सकती है।
  • यदि आपके लंग्स में दर्द रहता है तो इससे यह पता चलता है कि आपको फेफड़े से संबंधित कोई समस्या है
  • यदि आपके बड़ी आंत में दर्द रहता है तो इससे यह पता चलता है कि आपकी बड़ी आंत अच्छी तरीके से काम नहीं कर पा रही है।
  • छोटी आत में दर्द होने पर यह पता चलता है कि आपकी छोटी आत में कोई समस्या है।
  • किडनी में दर्द होने पर क्या पता चलता है कि आपको किडनी से संबंधित कोई समस्या हो गई है।
  • यदि आपको हृदय के पास बाएं हिस्से में दर्द होता है तो इससे यह पता चलता है कि आप को हृदय से संबंधित कोई बीमारी हो गई है।

शरीर के इन हिस्सों में दर्द होने पर तुरंत ही अच्छे डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। क्योंकि इन सब चीजों में लापरवाही बरतने पर यह एक बड़ी समस्या बन सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper