यशवंत का दलगत राजनीति से सन्यास और बीजेपी छोड़ने का किया ऐलान

दिल्ली ब्यूरो: दलगत राजनीति से सन्यास लेते हुए आज यशवंत सिन्हा ने बीजेपी छोड़ने का ऐलान कर दिया। यशवंत सिन्हा का यह ऐलान बीजेपी को भारी पड़ सकता है। इस ऐलान के साथ ही यह माना जा रहा है कि यशवंत सिन्हा पपीएम मोदी की सरकार के विरोध में उतरेंगे और तमाम आर्थिक और सामाजिक नीतियों का विरोध करेंगे जो जनता के हित में नहीं है।

पटना में उन्होंने कहा कि मैं आज दलगत राजनीति से संन्यास लेता हूं। बीजेपी के साथ सभी संबधों को समाप्त करता हूं, भविष्य में मैं किसी पद का दावेदार नहीं हूं। ” यशवंत सिन्हा लंबे समय से नाराज थे और प्रधानमंत्री मोदी और सरकार पर हमले बोल रहे थे। यशवंत सिन्हा चुनावी राजनीति से पहले ही संन्यास की घोषणा कर चुके हैं।

यशवंत सिन्हा ने कहा, ”आज से चार साल पहले मैंने चुनावी राजनीतदि से संन्यास ले लिया था। जब मैंने मना कर दिया था कि मैं 2014 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ूंगा, तब मेरे मन में यह था कि अब चुनाव नहीं लड़ूंगा। चार साल गुजर गए कुछ लोगों ने समझा कि मेरे दिल की धड़कन भी बंद हो गई है। लेकिन मेरा दिल आज भी धड़कता है और अपने देश के लिए धड़कता है। ”

यशवंत सिन्हा ने कहा, ”अगर मैं आपके सामने खड़ा हूं तो इसलिए खड़ा हूं कि देश की जो आज की स्थिति है इसपर हमें आपको मिलकर विचार करना होगा। हम लोग सबसे पहले राजघाट गए और महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद हमने ‘राष्ट्र मंच’ बनाने की घोषणा की। ये कोई राजनीतिक दल नहीं है। देश की परिस्थिति को देखते हुए अगर आज हम चुप रह जाएंगे तो आने वाली पढ़ियां हमसे सवाल करेंगी कि जब ये सब हो रहा था तब आप कहां ? इसलिए राष्ट्र मंच का गठन किया। ”

बता दें कि झारखंड के हजारीबाग से सांसद रह चुके यशवंत सिन्हा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वित्त मंत्री और विदेश मंत्री रह चुके है। यशवंत सिन्हा चंद्रशेखर सरकार में भी मंत्री रहे हैं। जनता ने उन्हें तीन बार लोकसभा पहुंचाया. यशवंत सिन्हा के बेटे जयंत सिन्हा मोदी सरकार में मंत्री हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper