यहां 51 दिन के बाद खुला लॉकडाउन, आधी रात को ही बाल कटवाने सैलून पहुंचे लोग

वेलिंगटन: जहां एक तरफ कोरोना वायरस ने पूरे विश्व में अपने पैर पसार लिए हैं, वहीं न्यूजीलैंड इस वायरस को काबू रखने में काफी हद तक कामयाब रहा है। यहां कोविड-19 संक्रमण के 1497 मामले सामने आए जबकि 21 लोगों की मौत हुई। न्यूजीलैंड में गुरुवार को लगातार तीसरे दिन कोरोना वायरस का कोई भी नया मामला सामने नहीं आया है। इससे पहले बुधवार को आधी रात को 51 दिनों से जारी लॉकडाउन को खत्म कर दिया गया। जिसके बाद आधी रात को ही लोग वेलिंगटन, क्राइस्टचर्च सहित कई शहरों में हेयर सैलून पर पहुंच गए।

सरकार ने लोगों से आग्रह किया है कि देश में मॉल, दुकानें और रेस्तरां खोले जा रहे हैं लेकिन उन्हें सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। एक स्थान पर 10 से ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदी लगाई गई है। प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न का कहना है कि वायरस की वजह से सबसे अधिक चुनौतीपूर्ण आर्थिक स्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। अर्डर्न ने कहा कि न्यूजीलैंड में शीतकाल काफी मुश्किलों भरा होने वाला है लेकिन हर शीत ऋतु के बाद वसंत आता है और यदि हम सही फैसला लेते हैं तो हम देश के नागरिकों को वापस काम पर ले जा सकते हैं। एक बार फिर से हमारी अर्थव्यवस्था तेजी से रफ्तार पकड़ेगी।

इसी तरह ऑस्ट्रेलिया के दूसरे सबसे अधिक आबादी वाले राज्य विक्टोरिया ने मंगलवार से धार्मिक समारोह और सामुदायिक खेलों पर लगाए गए प्रतिबंधों में ढील देने का एलान किया है। वहीं, फ्रांस में भी आठ सप्ताह बाद सोमवार से गैर आवश्यक वस्तुओं की दुकानें, कारखाने और अन्य व्यवसाय फिर से खुल गए।ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया प्रांत के प्रधानमंत्री डेनियल एंड्रयूज ने कहा कि दी गई छूट का मतलब यह कतई नहीं है कि हम अनियंत्रित हो जाएं। हमें अपने सामान्य ज्ञान का उपयोग करना होगा। सबसे अधिक आबादी वाले न्यू साउथ वेल्स और क्वींसलैंड में सोमवार से स्कूलों में कक्षाएं शुरू की गईं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper