युद्ध के हालातों के बीच एक 11 साल के लड़के ने अकेले तय किया 1000 KM का सफर, लोगो ने बच्चे को बताया सुपरहीरो..

रूस और यूक्रेन के युद्ध ने वहां के नागरिकों को झंझोर कर रख दिया है। हर कोई बस दुआ कर रहा है कि ये युद्ध जल्द से जल्द शांति की ओर जाए और सब पहले जैसा हो जाए, मगर लोगो की ये दुआएं कबूल होती नज़र आ नहीं रही है क्युकी हर दिन के साथ हालात और ख़राब होते जा रहे है। आज युद्ध शुरू हुए पुरे 12 दिन हो गए है पर रूस टस से मस होने का नाम नहीं ले रहा।

इसी बीच एक चूका देने वाली खबर सामने आई है जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे। आपको बता दे की रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध में 11 साल का एक यूक्रेनी बच्चा खुद 1000 किलोमीटर से अधिक यात्रा करके सुरक्षित स्लोवाकिया पहुंचा है। बच्चे ने अपनी उम्र से बढ़कर ये कारनामा कर दिखाया है जो अविस्मरणीय है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की जब बच्चा इस सफर के लिए निकला तो उसके पास उसकी माँ का दिया हुआ एक बैग, नोट और एक इमरजेंसी नंबर लिखा गया था। महज़ एक 11 साल के बच्चे जब इतना लम्बा सफर करके अपने निर्धारित लक्ष्य तक पंहुचा तो वह मिली फाॅर्स ये देख कर चकित रह गयी।

इस वजह से बच्चे को अकेले करना पड़ा सफर :
यह बच्चा दक्षिण-पूर्वी यूक्रेन के जापोरिज्जिया का रहने वाला था, जहां पिछले हफ्ते रूसी सेना ने कब्जा कर लिया था। बताया जा रहा है की अपने रिश्तेदार की बीमार हालत की वजह से उसके माता पिता को यूक्रेन ही रहना पड़ा। जिसकी वजह से उसकी माँ ने अपने बच्चे को अकेले इस सफर पर भेजा।

बच्चे के इस निडर और दृढ़संकल्पित कार्य की हर कोई तारीफ कर रहा है। स्लोवाकिया गृह मंत्रालय ने एक फेसबुक पोस्ट में बच्चे को ‘पिछली रात का सबसे बड़ा हीरो’ बताया है। बच्चे से पूछने पर पता चला की उसकी माँ ने यहाँ उसे उनके रिश्तेदारों के पास भेजा है।

जब स्लोवाकिया सरकार ने बच्चे के बैग से वो नोट पढ़ा तो वे भी जानकर चकित हो गए कि इस छोटे से बच्चे ने इतनी लम्बी दुरी तय करके यहाँ तक पहुँच पाया है, तो अधिकारियों ने उसे स्लोवाकिया की राजधानी ब्रातिस्लावा में रहने वाले उसके रिश्तेदारों से संपर्क किया और उन्हें सौंप दिया।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper