युवा महोत्सव में बोले पीएम, योगी बड़े ख‌िलाड़ी अच्छे-अच्छों क‌ो क‌िया परास्त

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय युवा महोत्सव में देशभर के युवाओं को प्रेस कांफ्रेंस के जर‌िए संबोध‌ित क‌िया। इसके साथ ही पीएम ने 22वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव की शुरुआत की। पीएम ने अपने भाषण की शुरुआत इसरो के वैज्ञान‌‌िकों को बधाई देकर की। उन्होंने इसरो को पीएसएलवी सेटेलाइट लॉन्च होने की बधाई दी। पीएम ने इसे देश के युवाओं और ऊर्जा के ल‌िए बेहद प्रेरणादायी बताया। इसरो ने एक नया र‌िकॉर्ड बनाया है। पीएम ने ये भी बताया क‌ि इस 22वें महोत्सव की थीम संकल्प से स‌िद्ध‌ि है। यानी संकल्प करो और अपना काम पूरा करो।

उन्होंने स्वामी व‌िवेकानंद को याद करते हुए उन्हें नमन ‌क‌िया और देश के युवाओं को उनके जीवन से प्रेरणा लेने को कहा। पीएम ने कहा क‌ि यह न्यू इंड‌िया के मंथन के ल‌िए बहुत सही समय है। उन्होंने यहां गौतम बुद्ध के बारे में एक कहानी सुनाते हुए कहा क‌ि एक बार उनके एक श‌िष्य ने पूछा क‌ि क्या आपके हर श‌िष्य को न‌िर्वाण म‌िल जाएगा तो उन्होंने कहा क‌‌ि नहीं सबको न‌िर्वाण नहीं म‌िलेगा। ज‌िसका संकल्प बड़ा, अच्छा और श्रेष्ठ होगा उसी को न‌िर्वाण होगा। साथ ही पीएम मोदी ने बताया क‌ि युवा कौन है।

उन्होंने कहा क‌ि युवा वो होता है जो अपने अतीत को भूलकर भ‌व‌िष्य के ल‌िए सोचता है। उन्होंने कहा क‌ि देश के युवा को देश न‌िर्माण का संकल्प लेना होगा। देश की युवा पीढ़ी को आगे बढ़ने के ल‌िए 4 लाख करोड़ रु से अध‌‌िक की राश‌ि दे दी गई है। अब इस राश‌ि से वो अपने सपने पूरे कर रहा है। जब देश का युवा ठान लेता है तो वह बड़े से बड़ा काम भी कर जाता है। पीएम मोदी ने उन लोगों का भी उल्लेख ‌क‌िया जो अपने बलबूते राष्ट्र न‌िर्माण में सहयोग कर रहे हैं। सरकार का उद्देश्य आपके हाथ पकड़ने का है ताक‌ि आगे बढ़ सकें, अपने सपनों को पूरा कर सकें। पीएम मोदी ने कहा क‌ि युवाओं को श‌िक्षा के साथ ही ट्रेन‌िंग भी दी है। देशभर में प्रधानमंत्री कौशल केंद्रों की स्थापना भी की जा रही है। पहली बार युवाओं को एंटरप्रेन्योर देने वाली कंपन‌ियों को भी सरकार मदद दे रही है। 7 लाख युवाओं का रज‌िस्ट्रेशन सेंटर स्क‌िल योजना के तहत हुआ है। सरकार की कोश‌िश है क‌ि आप नौजवानों को उद्योगों की आवश्यकता के ह‌िसाब से ट्रेन‌िंग म‌िले।

पीएम मोदी ने कहा कि मुझे देश के नौजवानों पर पूरा भरोसा है। देश के सपने देश के युवा हृदय में न‌िवास करते हैं। उन्होंने कहा क‌ि लोग कहते हैं क‌ि देश के युवाओं में धैर्य नहीं है, मैं कहता हूं ये उनके ल‌िए अच्छा है। धैर्य होना चाह‌िए लेक‌िन ऐसा नहीं जो इंसान को श‌िथ‌िल कर दे, धैर्य नहीं होता तभी नए प्रयोग नए इंवेंशन होंगे। आप की इसी इनोवेशन करने की क्षमता को देखते हुए सरकार काम कर रही है। खेलों में आगे बढ़ें। खेल का मैदान हमें ज‌िंदगी जीनी स‌िखाता है। हार और जीत हमारे जीवन में बहुत मायने रखती है। खेल के साथ ही उन्होंने योग में आगे जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि योगी जी भी कम खिलाड़ी नहीं हैं। कई राज्यों में बहुत लोगों के साथ हमारे योगी जी ट्व‌िटर-ट्व‌िटर का खेल खेल रहे हैं।

और ट्व‌िटर के खेल में भी अच्छे-अच्छे ख‌िलाड़‌ियों को उन्होंने परास्त करके रख दिया है। इससे पहले युवा महोत्सव में पहुंचकर सीएम योगी ने देश के युवाओं का आह्रवान क‌िया और भारत को व‌िश्व का सबसे युवा देश बताया है। देश के युवाओं को ऊर्जा का प्रतीक बताया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कार्यक्रम चलेगा और वह युवाओं को प्रेरित कर रहे हैं। पीएम के बाद के बाद परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र सिंह यादव व अन्य युवाओं को संबोधित करेंगे। महोत्सव का समापन 16 जनवरी को होगा और इस दौरान विविध सांस्कृतिक कार्यक्रमों से जीबीयू परिसर का माहौल रंगारंग बना रहेगा। युवा महोत्सव में मौके पर युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री भारत सरकार राज्यवर्धन सिंह राठौड़ और संस्कृति मंत्रालय के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. महेश शर्मा युवाओं से रूबरू होंगे।

इस दौरान विख्यात वक्ता विजय बतरा भी युवाओं को प्रेरित करेंगे। इसके बाद सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा, जिसमें अलग-अलग प्रदेशों की लोक-कला की झलक देखने को मिलेगी, वहीं डिजिटल इंडिया और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं पर कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री और अन्य अतिथि देश भर से आए अपने-अपने क्षेत्रों में ख्याति प्राप्त करने वाले युवाओं में से चुने गए तीन युवाओं को सम्मानित करेंगे। महोत्सव के अंतर्गत कार्यक्रमों की शुरुआत प्रतिदिन सुबह सात बजे योग से होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper