यूएई ने भारत से फ्लाइट्स पर बैन में दी ढील, अन्य देशों से भी हटाया प्रतिबंध

नई दिल्ली: यूएई ने भारत से जाने वाली उड़ानों पर कोरोना के चलते लगे प्रतिबंध में ढील दी है। इसके तहत ट्रांजिट उड़ानों की इजाजत होगी। साथ ही UAE की वैध नागरिकता रखने वाले वैक्सिनेटेड लोगों को भी यात्रा की इजाजत होगी। यूएई ने ऐलान किया है कि गुरुवार यानी 5 अगस्त से ट्रांजिट उड़ानों यानि UAE के रास्ते दूसरी जगहों पर जाने के लिए भारत से फ्लाइट्स पर लगा बैन हट जाएगा। मंगलवार को नैशनल इमर्जेंसी ऐंड क्राइसिस मैनेजमेंट अथॉरिटी (एनसीईएमए) ने इस बात की घोषणा की है।

बता दें कि भारत के अलावा पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल, नाइजीरिया और युगांडा पर से भी बैन हटाया गया है। NCEMA ने ट्विटर पर कहा है कि ऐसे यात्री जो उन देशों से आएंगे जहां फ्लाइट्स पर प्रतिबंध लगा है, उन्हें एयरपोर्ट से 5 अगस्त से ट्रांजिट की इजाजत होगी। ट्रांजिट के लिए लोगों को 72 घंटे पहले लिया गया निगेटिव PCR टेस्ट दिखाना होगा। इन यात्रियों को जहां जाना होगा, वहां के लिए इजाजत की मंजूरी भी दिखानी होगी। साथ ही ऐसे लोगों के लिए एयरपोर्ट पर अलग लाउंज होंगे।

ऐलान में बताया गया कि भारत से ऐसे लोगों की एंट्री पर लगा बैन भी हटाया जाएगा जिनके पास वैध नागरिकता हो और जिन्हें प्रशासन पूरी तरह वैक्सिनेटेड मानता हो। हालांकि, इन लोगों को यात्रा करने से पहले एंट्री के लिए ऑनलाइन परमिट के लिए आवेदन देना होगा। उन्हें डिपार्चर से 48 घंटे पहले निगेटिव PCR टेस्ट भी दिखाना होगा। यहां स्वास्थ्यकर्मियों, शैक्षिक या सरकारी सेक्टर में काम करने वाले लोगों या छात्रों और मेडिकल ट्रीटमेंट कराने वाले लोगों पर भी वैक्सिनेशन की जरूरत नहीं होगी। इनके अलावा मानवीय आधार पर भी लोगों को बिना कड़े नियमों के एंट्री दी जा सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper