यूपी के इन जिलों में भारी बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी, आईएमडी ने जारी किया अलर्ट, क्लिक कर जाने अपने शहर का हाल

 


लखनऊ. राजधानी दिल्ली और उत्तर-पश्चिम भारत में नए साल के पहले दिन से शुरु हुई कड़ाके की सर्दी, घने कोहरे और शीत लहर से राहत के बाद अब फिर मुसीबत बढ़ने वाली है. यूपी की राजधानी लखनऊ, अयोध्या, सुल्तानपुर, अमेठी, अंबेडकरनगर, गोंडा समेत अवध व प्रदेश के कई इलाकों में शुक्रवार को बारिश हुई. कई जगह ओले भी पड़े. बेमौसम हुई बारिश ने ठंड के बढ़ने के फिर से संकेत दे दिए हैं.

बलिया में मौसम ने करवट बदल लिया है. देर रात शुरू हुई बारिश हुई. बारिश के साथ जोरदार बिजली भी कड़की. बारिश से ठंड बढ़ सकती है.

प्रयागराज संगम नगरी में बादल गरजने के साथ बारिश हुई. शहर के ग्रामीण इलाकों में बारिश हो रही है. भीषण ठंड में बारिश ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. मेले में कल्पवासियों और साधु-संतों की भी मुश्किलें बढ़ गई हैं. मेला क्षेत्र में आवागमन के साथ टेंट में रहने वाले कल्पवासियों को दिक्कतें उठानी पड़ रही हैं.

राजधानी लखनऊ में कल शाम करीब साढे पांच बजे हल्‍की बूंदाबांदी हुई. हालांकि शुक्रवार सुबह की शुरुआत घने कोहरे के साथ हुई थी. थोड़ी देर बाद हल्‍की धूप से तापमान कुछ बढा. मौसम विभाग ने उम्‍मीद जताई थी कि सोमवार से प्रदेश के कई हिस्सों में हल्की गरज के साथ बारिश और उसके बाद तेज बारिश होने की संभावना है, लेकिन शुक्रवार शाम की बारिश से आशंका है कि जैसे-जैसे रात बढ़ेगी ठंड भी बढ़ सकती है.

लखनऊ, अयोध्या, सुल्तानपुर, अमेठी, अंबेडकरनगर, गोंडा समेत अवध व प्रदेश के कई इलाकों में शुक्रवार को बारिश हुई. लखनऊ व गोंडा में ओले भी पड़े. मौसम विभाग का कहना है कि 27 जनवरी तक बूंदाबांदी-बारिश का दौर प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में जारी रहेगा. कुछ स्थानों पर ओले भी पड़ेंगे. इससे मौसम ठंडा होगा.

शुक्रवार को निकली धूप के बाद उम्‍मीद की जा रही थी कि कड़ाके की सर्दी और शीतलहर से जूझ रहे लोगों को थोड़ी राहत मिल सकती है. लेकिन अब लग रहा है कि अगर बारिश की शुरुआत हुई तो ठंड की वापसी हो सकती है.

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper