यूपी के सबसे ज्यादा शहरों में मेट्रो का जाल पर सबसे बड़ा नेटवर्क दिल्ली में

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को नौ किमी लंबे कानपुर मेट्रो कारिडोर का शुभारंभ कर शहर की जनता को नए साल का तोहफा दिया है। उत्तर प्रदेश के कई शहरों में मेट्रो रेल परियाजना पर काम चल रहा है। यूपी सर्वाधिक नौ शहरों में मेट्रो चलाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। नोएडा, गाजियाबाद और लखनऊ में पहले से ही मेट्रो चल रही है और अब कानपुर की जनता भी मेट्रो से सफर कर सकेगी। देशभर की बात करें तो अब तक 12 शहरों में मेट्रो रेल चल रही है और 2047 तक इसकी 100 शहरों में पहुंचने की उम्मीद है। केंद्र का लक्ष्य मेट्रो रेल ट्रैक को 500 किलोमीटर से 5000 किलोमीटर तक पहुंचाना है, जिसे पूरा करने के लिए कई मेट्रो परियोजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है। आने वाले दिनों में तो देश की जनता को कई मेट्रो रेल की सौगत मिलने वाली है –

कोलकाता मेट्रो
देश में पहली मेट्रो का परिचालन पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से 1984 में शुरू हुआ था। यह इकलौता मेट्रो रेल नेटवर्क है जिसे भारतीय रेलवे द्वारा नियंत्रित किया जाता है। इसके अलावा अन्य सभी स्वायत्त स्थानीय अधिकारियों द्वारा संचालित हैं। फिलहाल यह 27 किमी की दूरी तय करती है और भविष्य में कोलकाता मेठ्रो को पूर्व-पश्चिम कारिडोर के तहत हावड़ा रेलवे स्टेशन और बिदाननगर तक बढ़ाने की योजना है।

दिल्ली मेट्रो
दिल्ली मेट्रो विश्व के सबसे विशाल मेट्रो नेटवर्क लंदन, शंघाई, न्यूयार्क और बीजिंग की सूची में शामिल है। इसका नेटवर्क 253 स्टेशनों के बीच 389 किमी तक फैला हुआ है। दिल्ली मेट्रो यूपी के नोएडा और गाजियाबाद, हरियाणा के गुरुग्राम और फरीदाबाद तक दौड़ रही है। दिल्ली मेट्रो में हर लाखों लोग यात्रा करते हैं। हर रोज 50 लाख से ज्यादा लोग इससे सफर करते हैं। कोरोना महामारी के दौरान दिल्ली मेट्रो के बंद होने से सरकार काफी आर्थिक नुकसान हुआ था।

मुंबई मेट्रो
मुंबई मेट्र की शुरुआत आठ 2014 को हुई थी। जून 2006 में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मुंबई मेट्रो का शिलान्यास रखा था और फरवरी 2008 में इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ।

बेंगलुरु मेट्रो
कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु स्थित मेट्रो का नेटवर्क 42.30 किमी तक फैला हुआ है। बेंगलुरु में साल 2011 से लोग मेट्रो रेल का उपयोग कर रहे हैं। इसकी शुरुआत एमजी रोड से बैयप्पनहल्ली स्टेशन के बीच हुई थी।

चेन्नई मेट्रो
चेन्नई मेट्रो रेल नेटवर्क 42 किमी में फैला है, जिसकी शुरुआत साल 2015 में हुई थी। पहली मेट्रो कोयाम्बेडू से अलांदुर के बीच चली थी।

कोच्चि मेट्रो
कोच्चि मेट्रो 13 किलोमीटर लंबे आलुवा से पालारिवट्टम मार्ग पर 11 स्टेशनों को जोड़ती है। कोच्चि मेट्रो जून 2017 में शुरू की गई थी।

लखनऊ मेट्रो
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में स्थित मेट्रो 22.87 किमी तक अपनी सेवा देती है, जिसका निर्माण कार्य साल 2014 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कार्यकाल में हुआ था।

जयपुर मेट्रो
जयपुर मेट्रो का नेटवर्क 11 किलोमीटर से ज्यादा में फैला हुआ है। साल 2015 में इसकी शुरुआत की गई थी।

हैदराबाद मेट्रो
69 किमी पर फैली हैदराबाद मेट्रो की शुरुआत 2017 में हुई थी। पहले चरण में 30 किमी लंबे मार्ग पर 24 स्टेशन बनाए गए थे। यह देश का दूसरा सबसे लंबा परिचालन मेट्रो नेटवर्क है।

नागपुर मेट्रो
सात मार्च 2019 में नागपुर मेट्रो का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। यह मेट्रो, नागपुर शहर की सेवा करने वाली एक आधुनिक जनसंचार प्रणाली है, जिसकी शुरुआत 13.5 किमी से हुई थी और इसके नेटवर्क में 11 स्टेशन हैं।

नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो
26 जनवरी 2019 को ग्रेटर नोएडा मेट्रो की शुरुआत की गई थी। इसे एक्वा लाइन के नाम से जाना जाता है। यह नोएडा सेक्टर 71 से ग्रेटर नोएडा के डिपो स्टेशन के बीच 29.7 किमी लंबे ट्रैक पर दौड़ती है। इस पर कुल 21 स्टेशन हैं।

गुरुग्राम मेट्रो
रैपिड मेट्रो प्रणाली गुरुग्राम से संचालित होती है, जो सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन पर दिल्ली की येली लाइन के साथ इंटरचेंज होती है। इसकी कुल लंबाई 11.7 किलोमीटर है और इसमें कुल 11 स्टेशन हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper