यूपी चुनाव में हुई जिन्ना की एंट्री, अब मायावती ने कहा- हिंदू-मुस्लिम करके माहौल खराब कर रहे दोनों दल

लखनऊ: 2022 में उत्तर प्रदेश के अंदर विधानसभा चुनाव है, जिसमें अब कुछ ही महीनों का समय शेष बचा है। तो वहीं, विधानसभा चुनाव से पहले यूपी में जिन्ना की एंट्री हो चुकी है। दरअसल, सपा अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने जिन्ना को लेकर बयान दिया, जिसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ सहित भाजपा नेताओं ने हल्ला बोल दिया। इतना ही नहीं, बसपा प्रमुख मायावती से लेकर एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने अखिलेश यादव पर हमला बोला है। यूपी की पूर्व सीएम और बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने समाजवादी पार्टी (एसपी) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर यूपी चुनाव के पहले मिलकर प्रदेश का माहौल खराब करने का आरोप लगाया है

सपा मुखिया द्वारा जिन्ना को लेकर कल हरदोई में दिया गया बयान व उसे लपक कर भाजपा की प्रतिक्रिया यह इन दोनों पार्टियों की अन्दरुनी मिलीभगत व इनकी सोची-समझी रणनीति का हिस्सा है ताकि यहां यूपी विधानसभा आमचुनाव में माहौल को किसी भी प्रकार से हिन्दू-मुस्लिम करके खराब किया जाए। बीएसपी चीफ मायावती ने ट्वीट करके कहा, ‘सपा व भाजपा की राजनीति एक-दूसरे के पोषक व पूरक रही है। इन दोनों पार्टियों की सोच जातिवादी व साम्प्रदायिक होने के कारण इनका आस्तित्व एक-दूसरे पर आधारित रहा है। इसी कारण सपा जब सत्ता में होती है तो भाजपा मजबूत होती है जबकि बीएसपी जब सत्ता में रहती है तो भाजपा कमजोर।’

अखिलेश यादव ने हरदोई में जनसभा को संबंधित करते हुए मोहम्मल अली जिन्ना की तुलना गांधी, नेहरू और पटेल से की। उन्होंने कहा था कि सरदार पटेल, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और जिन्ना एक ही संस्थान में पढ़कर बैरिस्टर बने। वे बैरिस्टर बने, हमें आजादी दिलाई। वे किसी भी तरह के संघर्ष से पीछे नहीं हटे। आज वही लोग जो देश को एक करने का दावा करते हैं, आपको और मुझे जाति और धर्म के आधार पर बांट रहे हैं। अगर हम बंट गए तो हमारा देश क्या होगा? एक विशेषता जो हमारे देश के लिए अद्वितीय है वह है विविधता में एकता।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper