यूपी चुनाव से पहले दल-बदल का खेल शुरू, बीजेपी नेता सपा में शामिल तो भाजपा ने भी विपक्ष को दिया जोर झटका

लखनऊ। विधानसभा चुनाव की घोषणा होते ही दल-बदल का खेल शुरू हो गया है। भाजपा के कई विधायक पार्टी छोड़कर दूसरे दलों का दामन थाम रहे हैं तो दूसरे दलों के कई विधायक भी भाजपा के पाले में आ रहे हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को उप्र के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने दो विधायकों के साथ भाजपा से इस्तीफा दे दिया। मंगलवार सुबह सपा मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद उन्होंने राज्यपाल को कैबिनेट मंत्री पद से अपना इस्तीफा भेज दिया। भाजपा पर उन्होंने दलित व पिछड़ों की उपेक्षा का आरोप लगाया। उनका सपा में जाना लगभग तय है।

वहीं भाजपा ने बुधवार को विपक्ष को जोरदार झटका दिया है। पार्टी ने अपने मिशन यूपी को आगे बढ़ाते हुए सपा और कांग्रेस तीन बड़े नेता को भाजपा में शामिल कराया। सहारनपुर के बेहट विधान सभा सीट से कांग्रेस के विधायक नरेश सैनी और फिरोजाबाद के सिरसागंज के सपा विधायक हरिओम यादव भाजपा में शामिल हुए। इसके अलावा पूर्व विधायक धर्मपाल सिंह भी भाजपा में शामिल हुए, जो कुछ दिनों पहले बीएसपी छोड़कर सपा में शामिल हुए थे और अब भाजपा में शामिल हो गए है।

बसपा सरकार में लंबे समय तक मायावती के खासमखास रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने पांच वर्ष तक सत्ता की सवारी करने के बाद चुनाव से ऐन पहले भाजपा भी छोड़ दी। स्वामी प्रसाद मौर्य उत्तर प्रदेश की राजनीति में चर्चित चेहरा हैं। वह योगी सरकार में श्रम एवं सेवायोजन मंत्री का पद संभाल रहे थे, जबकि उनकी बेटी डा. संघमित्रा मौर्य भाजपा से ही बदायूं की सांसद हैं। चुनाव की घोषणा के साथ ही कई बड़े नेताओं के पाला बदलने की चर्चा तेज हो गई थी। इनमें प्रमुख रूप से स्वामी प्रसाद मौर्य का भी नाम था।

बता दें कि मंगलवार को स्वामी प्रसाद मौर्य के खास माने जाने वाले शाहजहांपुर से भाजपा विधायक रोशन लाल वर्मा, स्वामी प्रसाद का इस्तीफा लेकर राजभवन गए थे। इससे साफ हो गया कि रोशन लाल भी पार्टी छोड़ेंगे। इस बीच कानपुर के बिल्हौर से भाजपा विधायक भगवती प्रसाद सागर और बांदा की तिंदवारी सीट से भाजपा विधायक बृजेश कुमार प्रजापति ने भी इस्तीफा दे दिया।

रोशन लाल सहित तीनों ही विधायक मौर्य खेमे के हैं और बसपा से उनके साथ ही भाजपा में आए थे। वहीं आज दारा सिंह चौहान ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। दारा सिंह मऊ जिले की मधुबन विधानसभा सीट से विधायक हैं। दारा सिंह चौहान के समाजवादी पार्टी से जुड़ने की संभावना जताई जा रही है। इसके अलावा जेवर से विधायक अवतार सिंह भड़ाना ने पार्टी से त्‍यागपत्र दे दिया और वे आरएलडी में शामिल हो गए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper