यूपी पुलिस इमरजेंसी 112 में शुरू हुआ वर्क फ्राॅम होम, ऑफिस हो रहा है सेनिटाइज

लखनऊ: यूपी पुलिस की आपात सेवा 112 के लखनऊ में गोमती नगर विस्तार स्थित मुख्यालय को शनिवार से 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। मुख्यालय में काम करने वाले पांच कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद यह कदम उठाया गया है। वर्क फ्रॉम होम और प्रयागराज केंद्र कॉल सेंटर की मदद से आपात सेवाएं जारी रखी जाएंगी। जरूरतमंद नागरिक 112 की सेवा न मिलने पर 1073 पर कॉल करके मदद मांग सकते हैं।

एडीजी असीम अरुण ने बताया कि पुलिस 112 टि्वटर व फेसबुक के साथ सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक्टिव रहेगी। व्हाट्सएप नंबर 7570000100 और 7233000100 पर भी मैसेज भेजकर नागरिक पुलिस की मदद ले सकेंगे। शनिवार की दोपहर की शिफ्ट पूरी करके कर्मचारी कार्यालय से घर जाएंगे लेकिन शाम की शिफ्ट के कर्मचारी कार्यालय नहीं आए। इसके बाद 48 घंटे के लिए किसी भी कर्मचारी के आने पर रोक रहेगी।

उन्होंने बताया कि 112 के पांच कर्मचारी कोरोना (कोविड-19) पॉजिटिव पाए गए हैं। ये सभी तकनीकी टीम के सदस्य हैं जो सर्वर एरिया में काम करते हैं। इससे पहले एक कर्मचारी के पॉजिटिव पाए जाने के बाद कुल 30 कर्मचारियों का टेस्ट कराया गया था, जिसमें ये पांच पॉजिटिव पाए गए। मुख्य चिकित्साधिकारी लखनऊ की सलाह के अनुसार इन सभी का इलाज कराया जा रहा है। संक्रमित पाए गए कर्मचारियों के संपर्क में आए लोगों की तलाश करके उनका भी टेस्ट कराया जाएगा।

सेवाएं प्रभावित लेकिन बरकरार : एडीजी
यूपी 112 के एडीजी असीम अरुण ने बताया कि कोरोना संक्रमण के कारण मुख्यालय बंद होने से सेवाएं प्रभावित तो हैं लेकिन बंद नहीं हुई हैं। प्रयागराज उप केंद्र और वर्क फ्राम होम मिलाकर कुल 63 संवाद अधिकारी हर शिफ्ट में कार्य कर रही हैं। आम दिनों में सामान्य तौर पर 210 संवाद अधिकारी काम करती हैं। उन्होंने बताया कि वैकल्पिक व्यवस्था में 2 से 3 मिनट का वेटिंग टाइम हो रहा है। हालांकि काफी लोग व्हाट्सअप और सोशल मीडिया के अन्य माध्यमों से संपर्क कर रहे हैं। 112 के मुख्यालय के सैनिटाइजेशन का प्रथम चरण पूरा हो गया है। नगर निगम की टीम ने पूरे भवन को केमिकल से सैनिटाइज किया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper