यूपी पुलिस कॉन्स्टेबल ने तपती गर्मी में बंदरों को खिलाए आम, लोगों ने कहा- “इसे कहते हैं मानवता”

मानवता कभी-भी किसी जगह या मौके की मोहताज नहीं होती है। मानवता तो वह है, जो खुद दया और मदद के लिए आगे आए, वह भी बिना कहे। साथ ही जरूरमंद की मदद करे, भले फिर चाहे वह इंसान हो या जानवर, यही सीख सभी को देनी भी चाहिए। दिल बड़ा हो, तो किसी मदद करने में वक्त नहीं लगता। कुछ ऐसा ही बेमिसाल उदाहरण उत्तर प्रदेश के पुलिसकर्मी ने पेश किया है। कू ऐप पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें उत्तर प्रदेश पुलिस के एक सिपाही को बंदर को खाना खिलाते हुए दिखाया गया है। दिल छू लेने वाले वीडियो में वर्दी पहने एक सिपाही अपनी जीप के किनारे बैठकर बंदर को खिलाने के लिए आम काट रहा है।

वायरल हो रहे इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि अपनी पीठ पर एक बच्चे को लेकर बंदर धैर्यपूर्वक इंतजार कर रहा है, क्योंकि उसे पता है कि कॉन्स्टेबल आम को काटकर उसे खिलाएगा। बंदर खुशी-खुशी आमों को लेकर खाते हुए नजर आया। सोशल मीडिया पर यह वीडियो यूपी पुलिस के आधिकारिक अकाउंट पर शेयर किया गया है। शेयर किए गए वीडियो को 56 हजार से अधिक बार देखा जा चुका है। वीडियो के इस कैप्शन में लिखा, ‘यूपी 112, सबके ‘Mon-key’ समझे। अच्छे कामों को ‘आम बात’ बनाने के लिए वेल डन शाहजहांपुर के कॉन्स्टेबल मोहित PRV1388।’

नेटिजन्स ने दिल को छू लेने वाले इस वीडियो को बेहद पसंद किया। इतना ही नहीं, मानवता और दया प्रदर्शित वीडियो को देखकर यूज़र्स ने पुलिस कॉन्स्टेबल को सैल्यूट किया। एक यूज़र ने लिखा, “इसे कहते हैं मानवता, कॉन्स्टेबल मोहित को सलाम, आओ मानवता को आगे बढ़ाएँ। मानवता का कर्म ही सबसे प्यारा भगवान। हम भारतीयों का भला करें, भगवान भारत का भला करें।” एक दूसरे यूज़र ने लिखा, “इंसानियत भीतर से आती है। सभी प्राणियों के प्रति प्रेम रखो, यही मानवता है।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper