यूपी पुलिस ने सभी बैंको का किया आकस्मिक चेकिंग, 58 व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई

लखनऊ ब्यूरो। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक के निर्देश पर दिन के 12 बजे से २ बजे तक शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के 12015 बैंक शाखाओं की आकस्मिक चेकिंग किया गया, चेकिंग के दौरान 46836 व्यक्तियों और 3767 वाहनों को चेक किया गया।

चेकिंग के दौरान संदिग्ध पाये गये 58 व्यक्तियों के विरूद्व 151 दण्ड प्रक्रिया संहिता एव 34 पुलिस एक्ट आदि के अन्तर्गत कार्यवाही की गयी। 1487 वाहन सीज व् चालान किये गये। उनसे शमनीय अपराधों में रू.9,69,050 शमन शुल्क जमा कराया गया। चेकिंग में लापरवाही करने पर एक उपनिरीक्षक व दो आरक्षियों को निलम्बित किया गया।

पुलिस महानिदेशक द्वारा सोमवार को प्रदेश के समस्त जोनल अपर पुलिस महानिदेशक/परिक्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, प्रभारी जनपदो को बैंक चेकिंग के निर्देश दिये गये।

साथ ही यह भी निर्देशित किया गया कि चेकिंग अभियान में सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी द्वारा शहर व ग्रामीण क्षेत्र के बैंक प्रबन्धकों से पूर्व से वार्ता करके आकस्मिक रूप से बैंक के अन्दर चेकिंग की जाये तथा बैंक के अन्दर चेकिंग के दौरान यह देखा जाये कि कोई व्यक्ति, जिनका बैंक में खाता नही है, तथा बिना किसी कार्य के बैंक अन्दर बैठा है तो उसके इस प्रकार बैठने का औचित्य क्या है, यह देख लिया जाये।

उक्त कार्यवाही के दौरान चेकिंग टीम द्वारा बैंक के स्टाफ/खाताधारकों के कोई अभद्र व्यवहार न किया जाये। बैंक के आस-पास संदिग्ध व्यक्तियों की तलाशी ली जाये तथा बिना नम्बर प्लेट के दो पहिया व चार पहिया वाहन की चेकिंग की जाये एवं बैंक के आस-पास लगने वाले पान तथा चाय की दुुकानों आदि पर बैठे संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग करने का भी निर्देश था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper