यूपी-बिहार से लेकर राजस्थान तक घना कोहरा; शून्य तक पहुंची दृश्यता; ट्रेनें और फ्लाइट्स लेट

नई दिल्ली: इन दिनों पूरा उत्तर भारत भीषण ठंड की गिरफ्त में है। वहीं घना कोहरा मुसीबत और बढ़ा रहा है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में घने कोहरे की वजह से दृश्यता बहुत कम हो गई है। वहीं मौसम विभाग ने घने कोहरे को लेकर अलर्ट भी जारी किया है। दिल्ली, पंजाब और यूपी के कुछ इलाकों का हाल यहा है कि दृश्यता शून्य हो गई है। ऐसे में सड़कों पर यातायात बाधित है साथ ही कई जगह पर दुर्घटनाएं भी हुई हैं। बता दें कि रविवार को दिल्ली के सफदरजंग पर न्यूनतम तापमान 1.9 डिग्री तक पहुंच गया।

परिवहन प्रभावित
उत्तर भारत के अलावा उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत में भी कोहरे की घनी चादर देखी गई। दिल्ली में इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास सुबह 50 मीटर की दृश्यता थी। वहीं घने कोहरे की वजह से रेल और वायु यातायात प्रभावित है। दिल्ली आने वाली लगभग दो दर्जन ट्रेनें देरी से चल रही हैं। वहीं दिल्ली एयरपोर्ट पर कई फ्लाइट भी लेट हैं। उत्तर भारत की बात करें तो बहराइच में दृश्यता 50 मीटर, भगलपुर बिहार में 25 मीटर, राजस्थान के गंगानगर में 25 मीटर और बिहार के गया में 50 मीटर दर्ज की गई।

कोहरे की वजह से सड़कों पर भी रफ्तार धीमी हो गई है। वहीं मौसम विभाग का कहना है कि ठंड से अभी राहत की संभावना नहीं दिख रही है। उत्तर प्रदेश और दिल्ली में 14 जनवरी तक स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। वहीं रात में बड़े सवारी वाहनों पर भी रोक लगा दी गई है। बताया जा रहा कि नोएडा में पिछले 10 साल का रिकॉर्ड टूट गया है। रविवार को यहां पारा 1.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। इससे पहले 2013 में इस तरह की ठंड पड़ी थी। मौसम विभाग का अनुमान है कि सोमवार को दोपहर के बाद हल्की धूप निकल सकती है। हालांकि ठंड जारी रहेगी।

मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिणी हरियाणा, उत्तरी राजस्थान, दिल्ली, पूर्वी मध्य प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदे, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना के कई हिस्सों में अगले कुछ दिनों तक शीतलह की स्थिति बनी रहेगी वहीं पूर्वी भारत में पारा और गिर सकता है। पहाड़ी इलाकों में होने वाली बर्फबारी से ठंडी हवाएं कहर बरपा सकती हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper