यूपी बोर्ड स्कूलों को मान्यता देने में मानवीय दखल को करेगा खत्म

माध्यमिक शिक्षा परिषद अब स्कूलों की मान्यता पूरी तरह ऑनलाइन करने जा रहा है। इसमें मानवीय दखल को पूरी तरह खत्म किया जाएगा। अगले सत्र से इसे लागू किया जा सकता है। अभी तक केवल ऑनलाइन आवेदन लिया जाता है इसके बाद स्थलीय सत्यापन, उसकी रिपोर्ट, आपत्तियां आदि की व्यवस्था ऑनलाइन नहीं है। इस संबंध में प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। बेसिक शिक्षा परिषद पिछले वर्ष से मान्यता ऑनलाइन दे रहा है।

अभी तक ऑनलाइन आवेदन के बाद डीआईओएस को स्थलीय निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट क्षेत्रीय कार्यालयों / परिषद मुख्यालय पर भेजनी होती है लेकिन अब इसमें भी जियो टैगिंग का इस्तेमाल कर रियल टाइम डाटा इकट्ठा किया जाएगा। वहीं से फोटो समेत पहले से तय फार्मेट पर सूचनाएं भरनी होगी ताकि बाद में इसमें किसी भी किस्म का खेल नहीं किया जा सके। अभी तक मान्यता में स्थलीय सत्यापन को लेकर सबसे ज्यादा गड़बड़ियां होती हैं। इसके लिए डीआईओएस कार्यालय से क्षेत्रीय कार्यालयों तक दौड़ना पड़ता था। इस पर अनावश्यक तरीके से आपत्तियां कर मान्यता का आवेदन करने वालों को परेशान किया जाता है। दूसरी तरफ मान्यता के नियमों को पूरा न करने वालों को भी गलत रिपोर्ट के आधार पर मान्यता मिल जाती है। अब इसमें मानवीय दखल को पूरी तरह खत्म किया जाएगा।

बेसिक शिक्षा परिषद में इसी वर्ष से आवेदन से लेकर मान्यता देने की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है। इसकी मानिटरिंग मुख्यमंत्री के दर्पण डैशबोर्ड से भी की जाती है। मान्यता की समय सीमा तय है। प्रेरणा पोर्टल को ई- डिस्टिक निवेश मित्र पोर्टल के साथ भी इंटीग्रेट किया जाएगा, ताकि इस पर नजर रखी जा सके। 30 दिन के अंदर मान्यता के संबंध में ऑनलाइन मान्यता की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper