यूपी में कोरोना से ज्यादा क्राइम वायरस हावी: मायावती

लखनऊ. यूपी के गाजियाबाद (Ghaziabad) में बदमाशों के हमले में घायल पत्रकार की मौत के बाद सियासी तूफान खड़ा हो गया है. पत्रकार विक्रम जोशी (Journalist Vikram Joshi) की बुधवार सुबह अस्पताल में इलाज के दौरान मौत (Death) हो गई. सोमवार रात बदमाशों ने सरेआम उनके सिर में गोली मारी थी. हमले के समय उनकी दो बेटियां भी उनके साथ थीं.

इसके बाद उन्हें यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन गंभीर रूप से घायल विक्रम को बचाया नहीं जा सका. उधर घटना के बाद बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने ट्वीट (Tweet) कर योगी सरकार (Yogi Government) पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि पूरे यूपी में गंभीर अपराधों की बाढ़ लगातार जारी है. स्पष्ट है कि जंगलराज (Jungleraj) चल रहा है.

सरकार इस ओर ध्यान दे

बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट किया है, “पूरे यूपी में हत्या व महिला असुरक्षा सहित जिस तरह से हर प्रकार के गंभीर अपराधों की बाढ़ लगातार जारी है. उससे स्पष्ट है कि यूपी में कानून का नहीं बल्कि जंगलराज चल रहा है अर्थात् यूपी में कोरोना वायरस से ज्यादा अपराधियों का क्राइम वायरस हावी है. जनता त्रस्त है. सरकार इस ओर ध्यान दे.”

बता दें गाजियाबाद के विजयनगर इलाके में कुछ अज्ञात बदमाशों ने पत्रकार विक्रम जोशी पर हमला किया था. घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आ चुका है. इस सीसीटीवी फुटेज में विक्रम जोशी अपनी दो बेटियों के साथ मोटरसाइकिल से जाते दिख रहे थे. उसी वक्‍त बदमाशों ने उन्हें घेर लिया और गोली मार दी. इस मामले में 9 आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं.

पहले की थी मारपीट

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि करीब 5-6 बदमाशों ने पहले विक्रम जोशी को घेरा और फिर उनके साथ मारपीट की. बाद में विक्रम जोशी को गोली मारकर फरार हो गए. पिता को घायल देख बेटी मदद की गुहार लगाती रही, लेकिन मदद नहीं मिली. यह पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई. अब पुलिस इस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की तलाश कर रही है.

भांजी से छेड़खानी की शिकायत भी की थी

दरअसल, कुछ दिन पहले भी विक्रम जोशी ने थाना विजय नगर में एक तहरीर दी थी, जिसमें उन्होंने बताया था कि कुछ लड़के उनकी भांजी के साथ छेड़खानी करते हैं. इसका उन्होंने विरोध भी किया था, जिसका नतीजा सोमवार शाम को जब विक्रम जोशी कहीं जा रहे थे, तभी इन बदमाशों ने आकर उन पर हमला कर दिया और गोली मार दी.

कार्रवाई होती तो यह घटना नहीं होती

परिजनों का आरोप था कि अगर विक्रम की तहरीर पर कार्रवाई होती तो यह घटना नहीं होती. छेड़छाड़ की सूचना के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. पत्रकार विक्रम जोशी के परिवारवालों ने प्रताप विहार चौकी इंचार्ज राघवेंद्र पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया था. इसके बाद एसएसपी कलानिधि नैथानी ने चौकी इंचार्ज राघवेंद्र को सस्पेंड कर दिया. साथ ही पूरे मामले की जांच क्षेत्राधिकारी प्रथम को सौंप दी गई.

आरोपियों की तलाश के लिए 6 टीमें बनाईं

एसएसपी कालनिधि नैथानी ने बताया था कि इस मामले में पुलिस ने आईपीसी की धारा 307, 34, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस ने तीन में दो नामजद आरोपियों रवि और छोटू को गिरफ्तार कर लिया है. इसके अलावा इन दोनों के सात साथियों को भी गिरफ्तार किया गया है. गाजियाबाद पुलिस ने रवि, छोटू, मोहित, दलवीर, आकाश, योगेंद्र, अभिषेक हलका, अभिषेक मोटा और शाकिर को गिरफ्तार किया है. इसके अलावा बाकी आरोपियों की तलाश के लिए 6 टीमें बनाई गई हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper