यूपी में खौफनाक वारदात: महिला की हत्या कर शव के दो टुकड़े, फिर कातिलों ने किया ऐसा, कांप जाएगी रूह

सहारनपुर. सहारनपुर के तितरो में हत्या के बाद महिला के शव के दो टुकड़े कर ग्राम खडलाना में श्मशान घाट के पास बिटौड़ों में रखकर जला दिए। फॉरेंसिक टीम ने भी मौके पर पहुंचकर जांच की और शव के अवशेषों के नमूने लिए। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और घटना के खुलासे के लिए तीन टीमें बनाई हैं।

तीतरो थाना क्षेत्र के खडलाना में सोमवार की सुबह ग्रामीण श्मशान घाट की ओर से गुजरे तो उन्होंने देखा कि जगबीरा सैनी व रोहिताश के उपलों के बिटौड़ों में आग लगी है। कुछ ग्रामीणों ने आग बुझाने की कोशिश की तो एक शव को जलते देखा। इससे गांव में सनसनी फैल गई।

इसके बाद ग्राम प्रधान चंद्रपाल शर्मा व पूर्व प्रधान सतीश शर्मा ने पुलिस को जानकारी दी। कोतवाली प्रभारी मनोज कुमार अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। जांच में सामने आया है कि हत्या के बाद के शव के दो टुकड़े किए और उन्हें दो बोरों में लाकर अलग-अलग बिटौड़ों में रखकर जलाया गया।

बताया गया कि शव के टुकड़े करीब 90 प्रतिशत तक जल चुके हैं। एसपी देहात सूरज राय ने भी मौके पर पहुंचे। एसपी देहात ने बताया कि अभी तक की जांच में शव महिला का प्रतीत हो रहा है। हत्या करने के बाद लाश को बिटौड़े में जलाया गया है। अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जा रही है।

गांव में किसी के लापता होने की जानकारी नहीं है। पुलिस ने आसपास के गांवों के लोगों को बुलाकर भी पहचान कराने का प्रयास किया गया। पुलिस थानों में दर्ज गुमशुदगी के आधार भी शनाख्त कराने की कोशिश कर रही है।

तीतरो के ग्राम खडलाना में बिटौड़े में शव को जलाने के मामले के खुलासा के लिए एसएसपी ने तीन टीमें गठित की हैं। वहीं फोरेंसिक टीम ने कई नमूने लिए हैं। डीएनए सहित अन्य नमूनों को जांच के लिए भेजा जाएगा।

टीम ने नमूनों को सुरक्षित किया। सिर में बालों में लगाने की क्लिप, दो अंगूठी के अलावा मौके से मृतक के दांत भी मिले हैं। इन साक्ष्यों के आधार पर शव महिला का प्रतीत हो रहा है। मामले की जांच के लिए स्थानीय पुलिस के साथ स्वॉट और सर्विलांस टीम को भी बुलाया गया। टीम ने राख को छानकर भी नमूने जुटाए हैं। वहीं, जांच में सामने आया है कि शव के दो टुकड़े कर बोरे में रखकर अलग-अलग बिटौड़े में जलाने की कोशिश की गई है। घटनास्थल पर प्लास्टिक व सुतली की बोरी के जले होने के प्रमाण मिले हैं।

जांच में सामने आया है कि आरोपी आसपास के गांव के ही रहने वाले हैं। घटना को अंजाम देने वालों को पहले से जानकारी थी कि रात्रि में श्मशान घाट के आसपास क्षेत्र के लोगों की आवाजाही कम रहती है। उपलों के बिटौड़ों में दो दरवाजे बनाए गए हैं। एक में मधुमक्खी का छत्ता लगा है। उन्होंने शव को जलाने के लिए दूसरे दरवाजे का इस्तेमाल किया, जबकि दूसरे बिटौड़े में चिंगारी से आग लगना वजह से मानी जा रही है।

घटनास्थल के आसपास 24 घंटे में सक्रिय रहे फोन नंबर को भी पुलिस खंगाल रही है। इसके लिए टेलीकॉम कंपनियों की मदद ली गई है। पुलिस को आशंका है कि इनमें आरोपियों के नंबर भी हो सकते हैं। पुलिस को करीब 202 फोन नंबर मिले हैं। पुलिस की जांच में शव महिला का प्रतीत हो रहा है। पुलिस हर बिंदु पर जांच कर रही है। यह भी आशंका जताई जा रही है कि अगर शव महिला का है तो कहीं दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर शव को जलाया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper