यूपी में धरने पर बैठे छात्रों को मनाने आए इंस्पेक्टर खुद हो गए भावुक, छलक पड़े आंसू, बोले…

 


प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में धरना दे रहे दो छात्रों को हटाने में एक पुलिस इंस्पेक्टर के पसीने छूट गए. बताया जा रहा है कि ये छात्र अपने ऊपर हुए हमले के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं किए जाने से नाराज थे. दोनों पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए थाने के गेट के सामने शर्ट उतारकर धरना प्रदर्शन करने लगे. इस बीच छात्रों को मनाने पहुंचे इंस्पेक्टर इमोशनल हो गए और खुद धरने पर बैठने की बात करने लगे.

बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले हिंदू हॉस्टल के पास एक कार और बाइक में टक्कर हो गई थी. इस हादसे के बाद छात्रों के दो गुटों में जमकर मारपीट हुई. इतना ही नहीं घायलों ने आरोप लगाया था कि कुछ छात्रों ने हवाई फायरिंग भी की.

छात्रों का कहना है कि इस पूरी वारदात में शुभम नाम का एक छात्र भी शामिल था, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. इसके बाद छात्र सिविल लाइन थाने के बाहर खुद प्रदर्शन करने बैठ गए. विरोध प्रदर्शन की सूचना मिलते ही इंस्पेक्टर वीरेंद्र यादव मौके पर पहुंचे और छात्रों को मनाने लगे.

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper