यूपी में बीते चौबीस घंटे में मिले कोरोना के 2,600 नये मरीज

लखनऊ: प्रदेश में कोरोना संक्रमण के नये मामलों में वृद्धि का सिलसिला और तेज हो गया है। कुछ समय पहले तक जहां दहाई संख्या में नये मरीज मिल रहे थे। वहीं इसमें इजाफा होने पर ये संख्या पहले प्रतिदिन एक हजार के करीब पहुंची और अब बीते चौबीस घंटे में ढाई हजार से ज्यादा नये केस सामने आये हैं। संक्रमण की बढ़ती रफ्तार स्वास्थ्य महकमे के लिए बड़ी चुनौती बनी हुई है।

अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने गुरुवार को बताया कि राज्य में पिछले चौबीस घंटे में कोरोना संक्रमण के 2,600 नये मामले सामने आये हैं। इस वजह से सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 11,918 हो गई है। संक्रमण से अब तक 8,820 लोगों की मृत्यु हुई है। बीते चौबीस घंटे में 09 लोगों ने दम तोड़ा है। राज्य में कल एक दिन में कुल 1,24,135 सैम्पल की जांच की गयी। वहीं, प्रदेश में अब तक कुल 3,49,22,434 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश में कोरोना के कुल सक्रिय मामलों में से 6,722 लोग होम आइसोलेशन और 287 मरीज निजी चिकित्सालयों में भर्ती हैं। शेष मरीज सरकारी अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 5,99,045 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। राज्य में संक्रमण बढ़ने पर सर्विलांस के कार्य में भी तेजी लाई गई है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,88,839 क्षेत्रों में 5,15,980 टीम दिवस के माध्यम से 3,16,45,240 घरों के 15,35,51,766 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।

अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि प्रदेश में 45 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों का टीकाकरण आज से शुरू हो गया है। पूरे प्रदेश में लगभग 5,000 केन्द्रों पर टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अभी तक 11 लाख से अधिक लोग दूसरी डोज लगवा चुके हैं। उन्होंने कहा कि जिनकी दोनों डोज पूरी हो चुकी है, उनमें दोबारा संक्रमण पाये जाने के नहीं के बराबर मामले हैं। दोनों डोज ले चुके कुल लोगों में से 01 प्रतिशत से भी कम में फिर संक्रमण मिला है। वहीं, 99.5 प्रतिशत लोगों में पुन: संक्रमण नहीं पाया गया है। खास बात है कि जिन लोगों में दोनों डोज लेने के बाद संक्रमण मिला भी है तो उनमें किसी में भी गम्भीर स्थिति नहीं देखी गई। वहीं इनके सम्पर्क में आने वाले लोगों में भी नहीं के बराबर संक्रमण मिला। जबकि आम तौर पर इस बार नये लोगों में जो संक्रमण देखा जा रहा है, उसमें कोविड मरीजों से अन्य में तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है। इसलिए हर दृष्टिकोण से टीकाकरण कराना बेहद उपयुक्त है।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही इस बार नये मामलों के विश्लेषण में पाया गया है कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्र दोनों से लगभग आधे-आधे केस सामने आ रहे हैं। जबकि पिछली बार शहर और गांव का तीन चौथाई और एक चौथाई का अनुपात होता था। इस बार कुल मामलों में से लगभग पचास प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्रों से मिल रहे हैं, इसलिए ग्रामीण क्षेत्रों में भी जो लोग 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के हैं, वह भी शीघ्रता पूर्वक अपना टीकाकरण करा लें।

उन्होंने कहा इसके साथ ही जिन लोगों को पहली डोज लगा दी गई हो, वह दूसरी डोज कतई ना छोड़ें। यह लापरवाही बहुत भारी पड़ सकती है क्योंकि एक डोज से पूरी सुरक्षा नहीं मिलती है। दोनों दोस्त लगवाना आवश्यक है। दूसरी डोज के दो से तीन सप्ताह बाद ही शरीर में इम्युनिटी बढ़ती है और कोरेाना से सुरक्षा मिलती है। वहीं, जिस तरह संक्रमण का ग्राफ बढ़ रहा है, ऐसे में छोटे बच्चों, गर्भवती महिलाओं और बुजुर्गों का विशेष ध्यान दें। ये लोग अनावश्यक रूप से बाहर नहीं निकलें।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper