यूपी में 30 हजार से अधिक सिख किसानों के विस्थापन का मुद्दा गर्माया, कैप्टन अमरिंदर सिंह करेंगे सीएम योगी से बात

चंडीगढ़: यूपी में 30 हजार से अधिक सिख किसानों के विस्थापन का मुद्दा गर्माया हुआ है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अब इस मसले पर योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात करेंगे। कैप्टन ने यूपी में तीन पीढ़ियों से रह रहे सिख परिवारों को विस्थापित करने की मीडिया रिपोर्ट पर भी गहरी चिंता जताई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर खबरें सच हैं तो निसंदेह चिंताजनक हैं। एक बयान में कैप्टन ने कहा कि वह अमित शाह और आदित्यनाथ, दोनों को पत्र लिखेंगे और सच जानेंगे। इसका कारण पूछेंगे। उन्होंने कहा कि ऐसी कार्रवाई भारत के संघीय ढांचे के खिलाफ है और भारत का संविधान सभी नागरिकों को देश के किसी भी हिस्से में रहने की स्वतंत्रता देता है।

रामपुर, बिजनौर, लखीमपुर में बसे परिवार
मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी रिपोर्ट है कि ये परिवार रामपुर, बिजनौर और लखीमपुर जिलों में बस गए थे और अब इनकी तीन पीढ़ियां हो गई हैं। 1980 में उत्तर प्रदेश सरकार से इन्होंने मालिकाना हक भी प्राप्त कर लिया था।

बंटवारे के वक्त यूपी आ गए
खबरों में कहा गया है कि ये सिख परिवार 1947 में बंटवारे के वक्त उत्तर प्रदेश के इन तीन जिलों के 17 गांवों में बस गए थे और अपनी कड़ी मेहनत से वन क्षेत्र को कृषि योग्य भूमि में तब्दील कर दिया था। कैप्टन ने कहा कि इन परिवारों की भूमि के स्वामित्व में किसी भी प्रशासनिक समस्या को कानून की निर्धारित प्रक्रिया का पालन करके हल किया जा सकता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper