यूपी सरकार करे छात्रों की समस्या का समाधान- चंद्रशेखर आजाद

उत्तर प्रदेश में एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय यानी AKTU की सेमेस्टर परीक्षाओं को ऑफलाइन मोड में कराने को लेकर सभी छात्र लखनऊ में एकत्र होकर प्रदर्शन कर रहे हैं। चुनावों के चलते छात्रों के प्रदर्शन ने अब राजनीतिक रूप ले लिया है। छात्रों के मुद्दे को उठाते हुए भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म Koo पर पोस्ट कर यूपी सरकार को आड़े हाथ लिया। चंद्रशेखर आजाद ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि AKTU के स्टूडेंट, AKTU प्रशासन के खिलाफ ऑनलाइन परीक्षा कराने के लिए लखनऊ में आंदोलित है। लगातार बढ़ती महंगाई और ओमिक्रोन के दौर मे छात्रों के जीवन से खिलवाड़ निंदनीय है। यूपी सरकार छात्रों की समस्या का संज्ञान लेकर उचित समाधान करे।

आपको बता दें कि पेपर-पेंसिल मोड पर परीक्षा कराने के फैसले को लेकर लखनऊ से लेकर गाजियाबाद तक स्टूडेंट्स जमकर विरोध जता रहे हैं। छात्रों का कहना है कि ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए कई इलाकों में धारा 144 लगाई गई है और 5 लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदी है। इस बीच 60 बच्चों को क्लास में एक साथ बिठाकर परीक्षा क्यों कराई जा रही है? छात्रों की मानें तो कई बड़े संस्थान जैसे बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में ऑनलाइन परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं, तो फिर एकेटीयू ऑफलाइन परीक्षा कराकर छात्रों के जीवन को खतरे में क्यों डाल रहा है। वहीं, सरकार ने UPTET 2021 के पेपर लीक होने के बाद परीक्षा की नई तारीख की घोषणा कर दी है। परीक्षा अब 23 जनवरी 2022 को आयोजित की जाएगी, जिसे 28 नवंबर को आयोजित किया जाना था। पेपर लीक की घटना के चलते इसे रद्द कर दिया गया था, जिसको लेकर विपक्ष ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाए थे। अब देखना होगा कि कोरोना के बीच सरकार ऑफलाइन परीक्षा कराती है या नहीं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper