ये हैं दुनिया की सबसे महंगी सब्जी, एक किलो की कीमत 1 लाख रूपए…

दुनिया में कई अलग-अलग तरह की सब्जियां उगाई जाती हैं. जिसमे से आधे से ज्यादा के तो शायद हमने नाम भी नहीं सुने होंगे. लेकिन आज हम आपको दुनिया की सबसे महंगी सब्जी के बारे में बताएंगे. हॉपशूट्स दुनिया के सबसे महंगी सब्जी हैं और इसकी कीमत लगभग एक लाख रूपए किलो हैं. भारत में पहले इस सब्जी की खेती हुआ करती थी लेकिन पिछले कुछ सालों में इसकी खेती देश में बंद हो गई लेकिन अब बिहार के औरंगाबाद में फिर से इसकी खेती करने की योजना बनायी जा रही है.

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक साल 2012 में हजारीबाग के सेंट कोलंबस कॉलेज से इंटरमीडिएट-पास, बिहार के औरंगाबाद जिले के नवीनगर के अंतर्गत आने वाले करमडीह गाँव के किसान अमरेश सिंह ने अपनी जमीन के 5 कट्ठे में हॉपशूट्स की खेती करने का फैसला किया था. दरअसल वे देश के पहले किसान हैं जो हॉपशूट्स की खेती की शुरुआत कर रहा है.

मीडिया की माने तो हॉपशूट्स सब्जी इंटरनेशनल मार्किट आज से 6 वर्ष पहले भी लगभग 1000 पाउंड प्रति किलोग्राम पर बेची जाती थी. जोकि भारतीय करेंसी के अनुसार लगभग एक लाख रूपए बनता हैं. भारत में ये सब्जी कम देखी जाती हैं दरअसल इस सब्जी को आर्डर पर मंगवाया जाता हैं. अमरेश ने बताया कि हॉपशूट्स की 60 फीसदी से अधिक खेती में उन्हें कामयाबी मिली हैं. किसान अमरेश का कहना हैं कि अगर प्रधानमंत्री मोदी हॉपशूट्स की खेती को बढ़ावा देने के लिए विशेष व्यवस्था करते हैं तो इससे किसानों की आय कुछ वर्षों में 10 गुना बढ़ सकती हैं.

हॉपशूट का फल, फूल और टहनी सहित अन्य चीजों का इस्तेमाल एंटीबायोटिक दवाएं बनाने में किया जाता है. इसके आलावा इस वनस्पति के तने से टीबी जैसी बड़ी बिमारी की भी दवा बनाई जाती हैं. इसके फूल को हॉप-कोन्स या स्ट्रोबाइल के नाम से भी जाना जाता हैं. जबकि अन्य टहनियों का इस्तेमाल भोजन और दवा बनाने में किया जाता हैं. हॉपशूट में एंटीऑक्सिडेंट की मात्रा भी होती हैं, यही कारण हैं कि यूरोपीय देशों में इसका इस्तेमाल जड़ी-बूटी बनाने में किया जाता हैं. विदेशों में इसकी जड़ी-बूटी का प्रयोग त्वचा को खूबसूरत, चमकदार और यंग बनाए रखने के लिए किया जाता है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper