योगी ने कांग्रेस, सपा पर मढ़ा दोष

सोनभद्र। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को सोनभद्र गोलीकांड के लिये कांग्रेस और सपा के नेताओं को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि उन्हें इसकी सजा के लिये तैयार रहना चाहिये। योगी ने सोनभद्र के उम्भा गांव में बुधवार को जमीन पर कब्जे को लेकर हुई गोलीबारी में मारे गये लोगों के परिजनों से मुलाकात करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए कहा कि उनकी सरकार इस वारदात की तह तक जाएगी और ‘‘घड़ियाली आंसू’ बहाने वालों का पर्दाफाश करेगी। उन्होंने कहा कि हत्याकांड में मारे गये लोगों के परिजनों को मुआवजा पांच लाख से बढ़ाकर 18.50 लाख कर दिया गया है, वहीं घायलों को अब 50 हजार से बढ़ाकर 2.50 लाख मुआवजे के तौर पर दिए जाएंगे।

आरोपित यज्ञदत्त सपा का सक्रिय कार्यकर्ता : उन्होंने कहा कि यह बात सामने आयी है कि इस मामले की तह में कांग्रेस नेताओं का पाप है, जिन लोगों ने यह पाप किया, उनकी समाजवादी पार्टी के साथ आर्थिक साझेदारी रही है। इस घटना का आरोपित यज्ञदत्त सपा का सक्रिय कार्यकर्ता है, जबकि उसका भाई बसपा नेता है। योगी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि कांग्रेस और सपा के नेता इस पाप के लिये जिम्मेदार हैं और इसकी सजा के लिये उन्हें तैयार भी रहना चाहिये। यहां बताना जरूरी है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने करीब 30 घंटे तक मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस में हिरासत में रहने के दौरान शनिवार को सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ित परिवारों से मुलाकात की थी।

अब शादी में खाना बर्बाद किया तो सरकार लगाएगी 5 लाख रुपए का जुर्माना!

बुधवार को सामूहिक हत्याकांड में 10 लोगों के मारे जाने की घटना के बाद पहली बार सोनभद्र पहुंचे योगी ने कहा कि सोनभद्र में कांग्रेस के नेताओं ने ही जमीन कब्जा करने का खेल शुरू किया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस गड़बड़ी की जांच के लिये राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में समिति गठित की गयी है, जो 1952 से लेकर अब तक के घटनाक्रम की जांच कर 10 दिन में रिपोर्ट देगी। इसके अलावा इस घटना में पुलिस की तरफ से कहां-कहां लापरवाही हुई है, इसकी जांच की जिम्मेदारी वाराणसी जोन के अपर पुलिस महानिदेशक को सौंपी गयी है। लोगों को आवास दिए जाएंगे: योगी ने कहा कि उम्भा समेत दर्जनों गांवों में जनजातीय लोगों की जमीन हड़पे जाने के प्रकरण सामने आये हैं।

सरकार आने वाले समय में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिये भी प्रभावी कार्रवाई करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक कमेटी गठित की जा रही है, जो एक साल में यहां के सर्वागीण विकास की ओर ध्यान देगी। एक साल के अंदर सव्रे कराकर अनुसूचित जाति, आदिवासी और मुसहर जाति के लोगों को आवास दिए जाएंगे। पात्र लोगों को शौचालय, बिजली कनेक्शन, गैस, विधवा, वृद्धा, दिव्यांग पेंशन सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि हर किसी को अभियान चलाकर राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा। नई तहसील बनाई जाएगी और दो नए विकास खंड बनेंगे। जिले में ओबरा के नाम से एक तहसील तथा कान और कर्मा को ब्लाक बनाने के लिए प्रस्ताव मांगा गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper