योगी सरकार का ऐलान, 50 लाख बिजली उपभोक्ताओं के 955 करोड़ रुपए होंगे वापस

उत्तर प्रदेश में सपा सरकार में उपभोक्तओं से इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी के नाम पर मनमाने ढंग से की गई कई गुना अधिक की वसूली का मामला सामने आया है. योगी सरकार ने इस मामले में एक बड़ा फैसला किया है. इसके तहत पिछली सपा सरकार और अधिकारियो की मिलीभगत से सूबे के करीब 50 लाख गरीब उपभोक्ताओ की मेहनत की कमाई से मनमाने ढंग से वसूले गये 955 करोड़ रुपए से अधिक की इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी वापस करेगा.

जल्द ही ऊर्जा विभाग संबधित गरीबो को वापस करेगा, वहीं इस फैसले को लागू करने वाले अधिकारियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी. गौरतलब है कि बीते दिनों राज्य विद्युत नियामक आयोग से सपा शासन काल में करीब 50 लाख गरीब उपभोक्ताओ से नियमों को ताक में रख 5 प्रतिशत के बजाय 20 प्रतिशत इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी वसूली की शिकायत हुई थी. पता चला कि सरकार ने ऐसा करके 955 करोड़ से अधिक की वसूली कर ली थी.

इस मामले में नियामक आयोग के अध्यक्ष द्वारा यूपीपीसीएल से जवाब मांगा गया. इस बड़ी अनियमितता के हुए खुलासे के बाद नियामक आयोग नें तत्काल संबंधित धनराशि को यूपीपीसीएल को वापस करने का निर्देश दिया था.

जिस पर कार्यवाई करते हुए ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने जहां सपा सरकार के इस फैसले को संवेदनहीनता की पराकाष्ठा करार दिया. उन्होंने कहा कि अखिलेश सरकार द्वारा गरीबों को दिए गए इस जख्म पर योगी सरकार मरहम लगाएगी. सरकार इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी के रूप में वसूली गई 955 करोड़ की धनराशि के संबंधित गरीब उपभोक्ताओं को वापस करेगी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper