योगी सरकार ने उत्तम प्रदेश को बनाया ‘हत्या प्रदेश’ : अखिलेश यादव

फिरोजाबाद: समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी में बढ़ रही हत्या और लूटपाट की घटनाओं को लेकर राज्य की योगी सारकार पर निशाना साधा है। अखिलश ने उत्तर प्रदेश को ‘हत्या प्रदेश’ बनाने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि पुलिस झूठे मुकदमें बना रही है तथा निर्दोष लोग मुठभेड़ में मारे जा रहे हैं। यादव ने शिकोहाबाद में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा, ‘आज बड़ी लड़ाई है। अन्याय सीमा से परे है। पुलिस झूठे मुकदमें लगा रही है। निर्दोष मुठभेड़ में मारे जा रहे हैं।’

पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा सरकार को आड़े लेते हुए कहा, ‘जिस उत्तर प्रदेश को हमने उत्तम प्रदेश बनाने का सपना देखा था उसे भाजपा ने हत्या प्रदेश बना दिया है।’ उन्होंने कहा भाजपा संविधान से मिले अधिकारों को भी छीन रही है। नौकरियों में सीमाएं बांध दी गई है कि नौजवान आगे नहीं जा सकते। उन्होंने पेट्रोल और डीजल के मूल्य बढ़ाने के राज्य सरकार के कदम का जिक्र करते हुए कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा सरकार ने वोट के लिए डीजल-पेट्रोल पर चुनाव से पहले वैट हटा लिया था और चुनाव बाद वैट लगा दिया।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने आरोप लगाया कि भाजपा की सरकार ने देश को बर्बाद कर दिया है। ‘यह सरकार 110 करोड़ लोगों के लिए काम नहीं कर रही बल्कि 20 करोड़ लोगों के लिए काम कर रही है।’ उन्होंने दावा किया सरकार के निर्णय खुद ही बता रहे है कि देश में मंदी की मार है। कम्पनियां बंद हो रही हैं। सभी क्षेत्रों में नौकरियां जा रही है। टेक्सटाइल हो या आटो मोबाइल सभी क्षेत्र नीचे जा रहे हैं। मेक इन इण्डिया का शो-फ्लाप हो गया है।

INX मीडिया केस: कोर्ट में पेश किए गए पी चिदंबरम, सीबीआई ने 5 दिन की रिमांड मांगी

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper