योगी सरकार ने लिया फैसला, यूपी के सभी सिनेमाघरों में दिखाया जाएगा कुंभ का लोगो

यूपी की योगी सरकार ने इलाहाबाद में लगने वाले कुंभ मेले की ब्रांडिंग शुरू कर दी है। इसके तहत पिछले महीने रिलीज किए गए कुंभ मेले के लोगो यानी प्रतीक चिन्ह को सभी सिनेमाघरों में दर्शकों के बीच दिखाने का फैसला लिया गया है। कुंभ के लोगो को फिल्म की शुरुआत और आखीर में दिखाकर उन्हें मेले में आने का न्यौता दिए जाने की शुरुआत इलाहाबाद से की गई है, जबकि आगे इसे यूपी के दूसरे शहरों के थियेटर में भी फिल्मों के बीच दिखाया जाएगा। साथ ही संगम क्षेत्र में जितनी भी दीवारे है उन्हें सांस्कृतिक रंग में रंगने का काम भी शुरू हो गया है।

योगी सरकार ने इलाहाबाद में लगने वाले कुंभ मेले को इंटरनेशनल लेवल का अनूठा व अदभुत इवेंट बनाने का फैसला लिया है। पिछले महीने लखनऊ में राजभवन में हुए समारोह में गवर्नर राम नाइक और सीएम योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में कुंभ मेले का जो लोगो रिलीज किया गया था, उसे अब सिनेमाघरों में भी दिखाया जाने लगा है।

यूपी सरकार के निर्देश पर इलाहाबाद के सिनेमाघरों में 22 दिसम्बर से ही लोगो का प्रदर्शन जिले के सिनेमाघरों में शुरू करा दिया है। थियेटर संचालकों का कहना है कि कुंभ का लोगो देखकर दर्शकों ने सकारात्मक प्रतिक्रिया जताई है और उनमें इस अदभुत धार्मिक मेले को लेकर रोमांच व दिलचस्पी बढ़ गई है।

कुम्भ मेले में तकरीबन दस से पंद्रह करोड़ श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है। ऐसे में संगम क्षेत्र में जितनी भी दीवारे है उन्हें सांस्कृतिक रंग में रंगने का काम भी शुरू हो गया है। पेंट माय सिटी के तर्ज़ पर संगम क्षेत्र की दीवारें भारतीय इतिहास को दिखाएगी। यूनेस्को ने भी पिछले दिनों इलाहाबाद के कुंभ मेले को सांस्कृतिक विरासत की सूची में डाल दिया है। इससे इस बार के मेले का महत्व और बढ़ गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper