रक्षाबंधन पर बहन के लिए बनवाया शौचालय

वाराणसी के एक भाई ने रक्षाबंधन पर अपनी बहन के ससुराल में शौचालय बनाकर एक नायाब तोहफा दिया। दरअसल, वाराणसी जिला मुख्यालय से सात किलोमीटर दूर काशी विद्यापीठ के घमहापुर गांव में रहने वाले अशोक कुमार पटेल की बहन सुनीता पटेल की ससुराल में पैसे की कमी के चलते शौचालय नहीं था। बहन को शौच के लिए बहुत दूर खुले में जाना पड़ता था। पता चलने पर यह बात भाई को नागवार गुजरने लगी और उसने बहन की ससुराल में शौचालय बनवाकर रक्षाबंधन का खास तोहफा दिया।

भाई-बहन के गजब कारनामे : कहते हैं कि प्रतिभा किसी सुख-सुविधा की मोहताज नहीं होती। इसे सच करके दिखाया है 10 साल की ग्रेही ने। हल्द्वानी की यह बच्ची अभी चौथी कक्षा में है और 10वीं क्लास के हर सवाल को मिनटों में हल कर देती है। ग्रेही क्वांटम मेकेनिक्स भी पढ़ती है। चौथी क्लास के बाद वह स्कूल ही नहीं गई, बल्कि घर पर ही सेल्फ स्टडी कर सीबीएसई बोर्ड 10वीं कक्षा की परीक्षा की तैयारी कर रही है। बहन की तरह भाई गार्थ भी बहुत मेधावी है। गार्थ भी अभी दूसरी क्लास में रहकर छठवीं क्लास की मैथमेटिक्स बिना किसी हिचकिचाहट के हल कर देता है। गार्थ को संगीत का भी बेहद शौक है, लिहाजा वह गिटार को पूरा समय देता है और इस छोटी उम्र में वह दो गाने भी कंपोज कर चुका है। गार्थ और ग्रेही कभी टीवी नहीं देखते, बल्कि उन्हें आउटडोर गेम्स ज्याद पसंद हैं। दोनों बच्चे नियमित रूप से मेडिटेशन करते हैं।

भाई-बहन ने लिखी सफलता की नई गाथा : भाई-बहन ने एक साथ यूपीएससी की परीक्षा पास करके लोगों को दांतों तले अंगुली दबाने पर मजबूर कर दिया। वाराणसी के शिवपुर इलाके के टकटकपुर स्थित इंसनगर कॉलोनी के निवासी प्रभु नारायण सिंह के बेटे राव प्रवीण सिंह व बेटी प्रियंका सिंह का यूपीएससी में एक साथ चयन हुआ था। यूपीएसी में मिली रैंक की बात की जाए, तो भाई ने बहन को हरा दिया। राव प्रवीण की 152वीं, जबकि प्रियंका की 309वीं रैंक आई थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper