रमजान में घर-घर पहुंचेगा इफ्तार और सहरी का सामान

रामपुर: कोरोना महामारी के कारण पूरे देश मे लॉकडाउन पार्ट टू शुरू हो गया है। इसी बीच रमजान का मुबारक महिना भी शुरू हो रहा है। हालांकि किसी रमजान माह में किसी को कोई दिक्कत नहीं होगी। इसके लिए रामपुर जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने अपने अधीनस्थ अधिकारियों के साथ मिलकर एक प्लान तैयार किया है। इसके तहत रमजान के दौरान इफ्तार और सहरी के लिए सामानों की कमी न हो और डेलिवरी घरों तक हो सके इसकी व्यवस्था की।

जिलाधिकारी ने बताया कि रमजान माह के लिए हमने पूरी तैयारी कर रखी है। उलेमाओं से हमने मीटिंग की है और उन्होंने भी हमारा साथ दिया है। इबादत के लिए कोई भी मस्जिद नहीं जाएगा, सिवाय उनके जो मस्जिद कमेटी के लोग हैं। वो भी पांच से ज्यादा लोग मस्जिद में न रहें। इस पर पूरी सहमति के साथ फैसला हुआ है। उलेमाओं ने भी सभी से अपील की है कि लोगों को घर से बाहर न निकलना पड़े इसके लिए रमजान माह में जरूरत पड़ने वाले सभी सामान की सूची हमने बनवाई है।

सूची के अनुसार ही सामान के निर्माण करने वाली इकाइयों और सेवा देने वालों को चिन्हित कर लिया गया है। मुहल्ले वार उनके कार्य को चिन्हित कर रहे हैं, ताकि कहीं कोई भीड़ दिखाई न दे। 24 तारीख से जब रमज़ान शुरू होंगे तो हम वो सारी सुविधाएं लोगों को देंगे जिसका वो इस्तेमाल करते रहें हैं। इसके लिए किसी को भी बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। फिलहाल पूरे ज़िले में नगर पालिका, नगर पंचायत और ग्राम पंचायतों के माध्यम से सभी की साफ-सफाई और सेनिटाइजेशन का कार्य शुरू कर दिया गया है।

यह कार्य सिर्फ सुरक्षा की दृष्टि से किया जा रहा है। वहां पर कोई भी नमाज़ पढ़ने नहीं जाएगा, सिवाय उनके जिन्हें अधिकृत किया गया है। जिलाधिकारी ने बताया कि हमारे सभी कंट्रोल रूम की एक चैन बनी हुई है। नगर पालिका, नगर पंचायत, ब्लॉक और यहां तक कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी कंट्रोल रूम बना दिये गए है। कंट्रोल रूम रमजान माह में काफी मदद करेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper