रहना चाहते हैं सेहतमंद तो सर्दियों में खूब सेंकें धूप

नई दिल्ली: सर्दी के मौसम में अगर आप अपनी फिटनेस के प्रति सजग रहती हैं तो आपको धूप में भी बैठना चाहिये क्योंकि सर्दी के कारण हो रही कई बीमारियों से आपको राहत मिलेगी। धूप सेंकने से केवल विटामिन डी ही नहीं मिलता, बल्कि इससे सेहत को कई तरह के अन्य लाभ भी होते हैं। दिल के रोगियों के लिए भी यह बेहद लाभप्रद होता है। इसके अलावा तकरीबन सभी बीमारियों में धूप सेंकने से लाभ मिलता है।

यह तो सभी जानते हैं कि धूप सेंकने से शरीर को भरपूर मात्रा में विटामिन डी मिलता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। इसके साथ ही धूप सेंकने से जोड़ों का दर्द और सर्दी से होने वाले बदन दर्द से भी राहत मिलती हैं। धूप सेंकने से हमारे शरीर में मेलाटोनिन हार्मोन पैदा होता है। इस हार्मोन के होने से अच्छी और सुकून की नींद आती है। साथ ही इससे मानसिक तनाव भी कम होता है। धूप से हमारे दिमाग में ताजगी और खुशी का रसायन भी तेज होता है और अवसाद जैसी बीमारियां ठीक होती हैं।

धूप में बेठने से शरीर में कोलेस्ट्रोल घटने लगता है, जो वजन कम करने में मददगार साबित होता है। अगर शरीर में किसी तरह का फंगल इंफेक्शन हो जाए तो धूप में जरूर बैठें. क्योंकि धूप में बैठने से बैक्टीरियल इंफेक्शन खत्म हो जाता है। इसलिए धूप स्किन की समस्याओं से राहत दिलानें में बहुत ही कारगार साबित होती है।

सूरज की किरणें पीलिया जैसी गंभीर बीमारी को ठीक करने की क्षमता रखती हैं। इसलिए पीलिया के मरीजों को धूप में जरूर बैठना चाहिए। गर्भावस्था की हालत में धूप सेंकने से बच्चे का विकास अच्छी तरह होता है। सूरज की किरणों से निकलने वाली अल्ट्रावायलेट रेज से हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। जो हमें कई तरह की बीमारीयों से सुरक्षित रखने में मदद करता है। धूप में बैठने से शरीर में खून जमने की समस्या दूर हो जाती है। जिस कारण शरीर में ब्लड सर्कुलेशन सही बना रहता है. इसलिए इससे डायबिटीज और दिल के मरीजों को काफी फायदा होता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper