राजकीय संप्रेक्षण गृह व महिला विद्यालय में लगाया गया विधिक जागरूकता शिविर

बरेली: उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ द्वारा चलाए जा रहे महाअभियान विधिक साक्षरता शिविर के तहत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बरेली द्वारा शहर में जगह-जगह विधिक जागरूकता शिविर लगाए जा रहे हैं।

सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री सौरभ कुमार वर्मा ने बताया कि जनपद न्यायाधीश श्री विनोद कुमार अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के दिशा निर्देशन में महाअभियान के तहत कल रामभरोसे लाल महाविद्यालय में नारी सशक्तिकरण का संदेश देते हुए विद्यालय में उपस्थित छात्राओं को महिलाओं को उनके विधिक अधिकारों की जानकारी उपलब्ध कराई गई। इसके साथ ही राजकीय संप्रेक्षण गृह में भी विधिक जागरूकता एवं साक्षरता शिविर लगाया गया, जिसमें संप्रेक्षण गृह में रहने वाले नाबालिग बाल अपराध के बंदियों को उनके विधिक कानून बताए गए।

आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत के प्रचार हेतु भी कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को जागरूक किया और उनको लोक अदालत से होने वाले लाभ भी बताए गए। विद्यालय में विधिक साक्षरता शिविर में उपस्थित छात्राओं को कानून में उनके अधिकार व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं व निशुल्क विधिक सहायता के तहत गरीब व निर्धन लोगों को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा निशुल्क अधिवक्ता उपलब्ध कराए जाने की भी जानकारी पूरी तरह से उपलब्ध कराई गई। पैरा लीगल वालंटियर द्वारा राजकीय संप्रेक्षण गृह में बंद बाल बंदियों को निःशुल्क अधिवक्ता योजना के तहत होने वाले लाभ की जानकारी उपलब्ध कराई गई।

कार्यक्रम में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से पैरा लीगल वालंटियर श्री रजत कुमार, श्री शुभम राय, श्री अमित कुमार, श्री ज्वाला देव अग्रवाल उपस्थित रहे ।

बरेली से ए सी सक्सेना ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper