राजनाथ ने इजराइल के रक्षा मंत्री से की बात, चीन के साथ सीमा विवाद पर भी हुई चर्चा

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को इजराइल के अपने समकक्ष लेफ्टिनेंट जनरल बेंजामिन गेंट्ज के साथ टेलीफोन पर बात की। इस दौरान, पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ भारत के सीमा विवाद के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। सरकारी सूत्रों ने इस बारे में बताया। उन्होंने बताया कि बातचीत का मुख्य जोर मौजूदा रक्षा खरीद कार्यक्रम को तेजी से आगे बढ़ाने के साथ ही दोनों देशों के बीच रक्षा और सुरक्षा के संबंधों को और प्रगाढ़ करने पर था।

सूत्रों ने बताया कि दोनों रक्षा मंत्रियों की बातचीत में भारत और चीन के बीच सीमा विवाद का भी मुद्दा उठा। उन्होंने कहा कि बातचीत के दौरान भारत द्वारा इजराइल से विभिन्न हथियारों और उपकरणों की खरीद संबंधी प्रक्रिया को तेज करने पर भी चर्चा हुई। सूत्रों ने बताया कि सिंह ने गेंट्ज को रक्षा निर्माण क्षेत्र में भारत द्वारा शुरू किए गए बड़े सुधारों के बारे में अवगत कराया और हथियारों तथा सैन्य उपकरणों के विकास में भारत की कंपनियों के साथ मिलकर व्यापक भागीदारी का भी आह्वान किया। भारत, इजराइल के सैन्य सामानों का सबसे बड़ा खरीदार है और इजराइल पिछले कुछ वर्षों से हथियार प्रणाली, मिसाइलें और मानव रहित विमान (यूएवी) मुहैया करा रहा है लेकिन यह लेन-देन व्यापक रूप से पर्दे के पीछे ही हुआ है।

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सिंह और गेंट्ज ने दोनों देशों के बीच रणनीतिक सहयोग की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया और रक्षा भागीदारी को और मजबूत करने की संभावना पर चर्चा की । बयान में कहा गया, ‘‘उन्होंने कोविड-19 महामारी से निपटने में शोध और अनुसंधान पर मौजूदा तालमेल पर भी संतोष जताया। इससे दोनों देश ही नहीं बल्कि व्यापक मानवता की मदद होगी। ” मंत्रालय ने कहा कि सिंह ने रक्षा निर्माण में उदारीकृत प्रत्यक्ष विदेशी निवेदश व्यवस्था के तहत इजराइल की रक्षा कंपनियों की व्यापक भागीदारी का भी आह्वान किया। बयान में कहा गया, ‘‘दोनों मंत्रियों ने क्षेत्रीय घटनाक्रम पर भी विचार साझा किए। इजराइल के रक्षा मंत्री ने जल्द भारत दौरे के लिए सिंह के आमंत्रण पर भी हामी भरी।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper