राजस्थान में दलित संगठनों के बंद में महाबवाल, पुष्कर में बिगड़े हालात

जयपुर: एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ दलित संगठनों ने सोमवार को प्रदेश भर में सुबह से ही उग्र प्रदर्शन किया। प्रदेश में इस बंद का व्यापक असर देखने को मिला। इस दौरान तोड़फोड़, हिंसा, रास्ता जाम, ट्रेनों को रोका गया। बाड़मेर में बंद के दौरान झड़प हो गई और पत्थरबाजी होने के बाद मौके पर पुलिस ने पहुंचकर हालात पर काबू पाया। जयपुर में भी गांधी नगर में स्टेशन पर छात्र रेलवे ट्रैक पर आ गए और मालगाड़ी को रोक कर कब्जे में ले लिया। टोंक फाटक और महेश नगर फाटक में भी ट्रेने रोकी गईं, वहीं रास्तों को जाम कर दिया गया। जयपुर में मेट्रो रेल तक का भी संचालन दोपहर एक बजे तक हालात सामान्य नहीं होने तक रोक दिया गया है। सिंधी कैंप पर रोडवेज बसों का संचालन रोक दिया गया है। अलवर में प्रदर्शनकारियों और व्यापारियों के बीच झड़प के बाद फायरिंग होने से दो लोगों के घायल होनें के समाचार हैं।

केन्द्र सरकार जहां पूरे मामले में आक्रोश को थामने और अपनी स्थिति से अवगत करवा चुकी है जिसके बाद भी एक्ट में बदलाव के खिलाफ दलितों का आक्रोश प्रदेशभर में दिखाई दिया। प्रदेश में बंद के दौरान कई जिलों में तनावपूर्ण हालात बन गए तो संवेदनशील इलाकों में भारी पुलिस बल तैनात करना पड़ा। बाड़मेर में दलित संगठनों और करणी सेना के बीच झड़प हो गई, जिसमें दर्जन से अधिक लोग जख्मी हो गए। हालात काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। पुलिस के अनुसार भारत बंद के दौरान बाड़मेर चौहटन चौराहे पर करणी सेना और एससी एसटी संगठन के लोगों में पत्थरबाजी हुई और बाजारों में जमकर तोड़फोड़ हुई। चौहटन चोराहे पर राजपूत और राजपुरोहितों की दुकानों को टारगेट बनाया गया। लाठियों के बल पर जबरदस्ती दुकाने बंद करवा रही भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

जयपुर में सुबह से ही सड़कों पर दलित सेना के कार्यकर्ता जयपुर को बंद कराने में एकजुट दिखे। जगह-जगह बसों का संचालन ठप करने के साथ टोंक रोड पर लो फ्लोर में तोड़फोड़ की गई। वहीं नेहरू बाल उद्यान टोंक रोड के पास रास्ता रोक दिया गया। रिद्धि सिद्धि के पास एक शोरूम में तोड़फोड़ करने के समाचार मिले हैं। जयपुर में सुबह से भीम सेना की टुकड़ियों ने जगह रैली निकालने के साथ बाजारों को बंद करने के निकले। इसमें अम्बेडकर मंच, बसपा और दूसरे दलित समाज से जुड़े संगठनों के भी लोग शामिल रहें। इस दौरान सबसे ज्यादा तनावपूर्ण हालात सुबह महेश नगर, करतारपुरा, बरकत नगर पर बन गए जहां पर आसपास के इलाकों में रह रहे दलित समाज के युवा रेलवे ट्रक पर आ गए और ट्रेनों की आवाजाही रोकने का प्रयास किया।

इसकी सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे प्रशासन ने रेलवे ट्रेक का रास्ता सुचारू करने का प्रयास किए। वहीं गांधी नगर में भी पुलिस प्रशासन की सख्त निगरानी के बावजूद छात्र रेलवे ट्रेक पर पहुंच गए और जमकर नारेबाजी करने लगे और वहां खडी एक मालगाड़ी को कब्जे में ले लिया और इंजन पर चढ कर नारेबाजी करने लगे। इसकी सूचना लगते ही पुलिस ने समझा कर हटाने का प्रयास किया इसके बाद नहीं मानने पर हल्का बल का प्रयोग कर खदेड़ा जिसके बाद भी छात्र आ डटे रहें। बाद में आरपीएफ और पुलिस ने मिल कर ट्रेक को खाली कराया। रानीखेत एक्सप्रेस को टोंक फाटक के पास रोक लिया गया। दुर्गापुरा में डालडा फैक्ट्री पर रास्ता जाम कर दिया गया जिसके बाद लंबा जाम में लोगों का फंसना पड़ा। जयपुर में चारदीवारी में बंद का मिलाजुला असर सुबह से देखने को मिला तो जयपुर के बाहर टोंक रोड, सांगानेर, दुर्गापुरा जैसे इलाकों में ज्यादा असर देखने को मिला।

प्रदेश के जोधपुर, अजमेर, बीकानेर, उदयपुर, सवाई माधोपुर, करौली, भरतपुर, धौलपुर में बंद का असर देखने को मिला। सुबह से इन इलाकों में मुख्य मार्गों पर पुलिस बल तैनात किया गया। सीकर में बंद सफल रहा। जिला मुख्यालय पर प्रमुख बाजारों सहित मोहल्लो में भी दुकाने बंद रही। माकपा के पूर्व विधायक पेमाराम सहित छात्र संगठन एस एफ आई कार्यकर्ता बंद समर्थन मे भीम सेना के साथ रैली की अगवाई कर रहे थे। सोमवार को समूचा शहर नीले रंग की पताकाओं से अट गया। भरतपुर में रैली निकाली गई और अजमेर के अराई में दो पक्षों के बीच पत्थरबाजी हो गई। श्रीगंगानगर व सूरतगढ़ में बाजार बंद कराने को लेकर दो पक्ष आमने सामने हो गए जिससे तनाव हो गया।

यहां भी बिगड़े हालात

पुष्कर में दलित समाज के लोगों ने वाहनों में तोड़फोड़ की। दौसा सैंथल मोड पर जबरन बाजार बंद कराया गया। दलित समाज के लोगों ने बाजार बंद नहीं होने पर पत्थरबाजी तक की चेतावनी दी। दौसा में इस एक्ट के खिलाफ 28 चिकित्सक डयूटी में विरोधस्वरूप नहीं आए दूदू में बाजार पूरी तरह बंद रहा, राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपने का फैसला किया गया। दौसा में हलवाई की दुकान पर उबलते तेल को रोड़ पर बिखरने की सूचना मिली है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper