राज्यसभा, लोकसभा के 718 कर्मचारी संक्रमित, संसद के बजट सत्र पर कोविड का साया

नई दिल्ली: सरकार बजट सत्र की तैयारियों में जुटी है, एक फरवरी को देश का आम बजट घोषित किया जाता है। लेकिन इस बीच देश और देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना ने कोहराम मचा रखा है। कोरोना के कहर से संसद भवन भी नहीं बचा है। संसद भवन के सैकड़ों कर्मचारी कोरोना की गिरफ्त में आ चुके है। जल्द ही संसद का बजट सत्र शुरू होने वाला है।

ऐसे में संसद भवन के 718 कर्मचारियों का कोरोना संक्रमित होना बड़ी चुनौती बनता जा रहा है। संसद भवन में कोरोना का तांडव जारी है। अब तक जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक जिन कर्मियों में कोरोना संक्रमण पाया गया है उनमें 204 कर्मी राज्यसभा सचिवालय के कर्मचारी हैं। वहीं 514 कर्मी लोकसभा सचिवालय के कर्मचारी हैं। इतने कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित होने के बाद तय समय पर बजट सत्र संपन्न कराना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है।

गौरतलब है कि संसद भवन में काम करने वाले कर्मचारियों की लगातार कोरोना टेस्ट किया जा रहा है। जिसमें अब तक 718 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। कई कर्मचारियों की रिपोर्ट आनी बाकी है। गौरतलब है कि बीते एक सप्ताह में संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। 9 जनवरी तक संसद के करीब 400 कर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए थे। लेकिन 13 जनवरी तक इसकी आंकड़ा बढ़कर 718 पहुंच गया।

PM आज मुख्यमंत्रियों के साथ बनाएंगे प्लान
कोविड-19 के नए स्वरूप ओमीक्रोन के कारण संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद करेंगे। शाम 4 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद होगा। इस बैठक में कोरोना की मौजूदा परिस्थितियों, आगे किए जाने उपायों और भविष्य की तैयारियों को लेकर चर्चा करेंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री ने रविवार को देश में कोविड-19 महामारी के हालात, स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे और आपूर्ति व्यवस्था की चल रही तैयारियों, देश में टीकाकरण अभियान की स्थिति, ओमीक्रोन के प्रसार और इसके जन स्वास्थ्य प्रभाव की समीक्षा करने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की थी। उन्होंने इस दौरान जिला स्तर पर स्वास्थ्य संबंधी पर्याप्त बुनियादी ढांचा सुनिश्चित किए जाने और वयस्कों के लिए टीकाकरण मुहिम मिशन मोड पर तेज किए जाने की अपील की थी।

पीएम इसे लेकर क्या तैयारियां की गर्इं इसकी जानकारी मुख्यमंत्रियों से ले सकते हैं। इसी बैठक में उन्होंने कहा था कि राज्यों के हालात, तैयारियों और जन स्वास्थ्य सुविधाओं पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक बुलाई जाएगी। संक्रमण के मामलों में वृद्धि के बीच देश में स्वास्थ्य कर्मियों, अग्रिम मोर्चे के कर्मियों और अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित 60 वर्ष से अधिक आयु के मरीजों को टीकों की एहतियाती खुराक दिए जाने की मुहिम शुरू हो गई है। राज्यों में अब तक किए गए टीकाकरण को लेकर भी प्रधानमंत्री चर्चा कर सकते हैं।

देश में कोरोना की संक्रमण दर बढ़कर 13% के पार
देश में ओमिक्रॉन की वजह से आई कोरोना की तीसरी लहर बेलगाम होती जा रही है। बीते 24 घंटे में देश में 2.47 लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। मंगलवार की तुलना में ये आंकड़ा 27% ज्यादा है। ओमिक्रॉन के मामले भी बढ़कर 5,588 पहुंच गए हैं। देश में संक्रमण दर 13 प्रतिशत तक पहुंच गई है। डेली केस 10 दिन में ही 6 गुना बढ़ गए। 3 जनवरी को देश में 37,379 नए मामले सामने आए थे और 12 जनवरी को 2.47 लाख केस आए। नए मामलों के अलावा एक्टिव केस भी तेजी से बढ़ने लगे हैं। देश में अब इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 11 लाख के पार पहुंच गई है। 3 जनवरी से अब तक एक्टिव केस भी 6.5 गुना बढ़ गए हैं। देश में अब फिर से वैसे ही हालात बनने लगे हैं जैसे दूसरी लहर में बने थे। आखिरी बार 26 मई को 2 लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए थे। उस दिन 2.08 लाख नए मामले सामने आए थे। 26 मई के बाद 12 जनवरी को 2 लाख से ज्यादा नए केस आए हैं। दूसरी लहर का पीक 4.14 लाख था। आज जो नए मामले सामने आए हैं, वो दूसरी लहर के पीक से 40 फीसदी कम है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper