राम रहीम के जेल से बाहर आने में बड़ी अड़चन बन सकता है ये सच, मां और पत्नी भी जानती होंगी

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम का एक सच सामने आया है, जिससे बाबा का पैरोल मिलना मुश्किल हो जाएगा। असलियत जानकर पुलिस वाले भी चौंक गए। राम रहीम द्वारा कृषि कार्य के लिए पैरोल मांगने को लेकर राजस्व विभाग ने अपनी रिपोर्ट सिरसा पुलिस को सौंप दी है। रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि डेरा प्रमुख के नाम पर सिरसा में कृषि योग्य कोई भूमि नहीं है। डेरा सच्चा सौदा के पास करीब 800 एकड़ जमीन है, जिसमें से करीब 260 एकड़ जमीन कृषि योग्य है, लेकिन राम रहीम के नाम पर कोई भूमि नहीं है। डेरे की यह जमीन बेगू, नेजिया और अली मोहम्मद गांव के रकबे में आती है।

राजस्व विभाग ने अपनी रिपोर्ट एसआईटी को सौंप दी है, लेकिन अभी एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट सिरसा एसपी को नहीं सौंपी है। लॉ ऐंड ऑर्डर को लेकर भी एसपी सिरसा ने सदर थाना प्रभारी और सिटी थाना प्रभारी से रिपोर्ट मांगी हुई है। बता दें कि सिरसा पुलिस ने राजस्व विभाग से डेरा सच्चा सौदा और डेरा प्रमुख की कृषि भूमि का रिकॉर्ड उपलब्ध करवाने के लिए कहा था। डेरा या ट्रस्ट की जमीन को राम रहीम की व्यक्तिगत कृषि भूमि नहीं माना जाएगा।

गौरतलब है कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह की ओर से कृषि कार्य के लिए पैरोल मांगी गई है। रोहतक के जेल अधीक्षक ने इस संबंध में सिरसा के उपायुक्त से रिपोर्ट मांगी है। पूछा गया है कि क्या कैदी राम रहीम को पैरोल देना उचित होगा या नहीं? पत्र में बताया गया है कि जेल में राम रहीम का आचरण अच्छा है और उसने यहां कोई अपराध भी नहीं किया है। अब जिला प्रशासन को राम रहीम की पैरोल को लेकर अपनी अनुशंसा सौंपनी है।

राम रहीम को सीबीआई कोर्ट द्वारा 25 जुलाई 2017 को दो साध्वियों के साथ दुष्कर्म मामले में दोषी करार दिया गया था। दोनों मामलों में सीबीआई कोर्ट ने उसे 28 अगस्त को 10-10 साल की कैद और 15 लाख-15 लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी। इसके अतिरिक्त रामचंद्र छत्रपति की हत्या मामले में भी सीबीआई कोर्ट ने राम रहीम को आजीवन कठोर कारावास की सजा सुनाई और 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था। इसके अतिरिक्त डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह के दो मामले कोर्ट में ट्रायल पर है।

हमने अपनी रिपोर्ट पुलिस को सौंप दी है। इस बारे में मैं ज्यादा कुछ नहीं बता सकता।
– प्रदीप कुमार, तहसीलदार, सिरसा

अभी रिपोर्ट तैयार की जा रही है और रिपोर्ट तैयार करने में समय लगेगा।
– अरुण सिंह, एसपी, सिरसा

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper