राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से कुल 3,72,003 वादों का हुआ निस्तारण

बरेली: उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के आदेश अनुसार कल जनपद न्यायाधीश श्री विनोद कुमार अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जिला न्यायालय में राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ मां सरस्वती का दीप प्रज्वलन कर किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत में न्यायिक अधिकारियों, विभिन्न बैंकों, बीमा कंपनियों के अधिकारियों, अधिवक्ताओं एवं पदाधिकारियों ने प्रतिभाग किया एवं लंबित वादों का निस्तारण कराया।

नोडल अधिकारी/अपर जिला जज श्री अरविंद कुमार यादव ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से विभिन्न न्यायालयों द्वारा 4143 वादों का निस्तारण किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत में अपर सत्र न्यायालय के 508 वाद, सिविल प्रकृति के 348 वाद, मोटर दुर्घटना प्रतिकर के 262 वाद, पारिवारिक मामलों के 57 वाद व प्रीलिटिगेशन के 06 वाद, फौजदारी के 2961 वाद, वाणिज्य न्यायालय के 7 वाद तथा विभिन्न राजस्व न्यायालयों द्वारा 41287 वादों का निस्तारण आपसी सुलह समझौते व अभिस्वीकृति के आधार पर किया गया।

राष्ट्रीय लोक अदालत में 5460 ई चालानों तथा ई-डिस्ट्रिक पोर्टल के माध्यम से 3,19,214 वादों का निस्तारण किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव श्री सौरभ कुमार वर्मा ने बताया कि अन्य विभागों द्वारा 46 वादों का सफल निस्तारण किया गया l मोटर दुर्घटना वादों में 8,32,53,060 रुपये की धनराशि प्रतिकर के रूप में पीड़ित पक्षकारों को दिलवाई गई, फौजदारी वादों में अर्थदंड के रूप में 683720 रुपये की धनराशि वसूल की गई तथा दूरसंचार विभाग के 119 वादों का निस्तारण कर 2,62,517 रुपये की धनराशि वसूल की गई, वाणिज्यिक न्यायालय द्वारा 9824055 रुपए की धनराशि वसूल की गई।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री सौरभ कुमार वर्मा ने बताया कि लोक अदालत के आयोजन में जनपद न्यायालय परिसर में 02 जगह बैंकों के कैम्प लगाए गए, जिसमें विभिन्न बैंकों ने बैंक ऋण से संबंधित 1728 वादों का निस्तारण किया एवं कुल ऋण धनराशि 5,43,03,500 रुपये वसूल की गई।
प्राधिकरण सचिव ने अवगत कराया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में पारिवारिक न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश श्री राजेंद्र प्रसाद त्रिपाठी द्वारा 16 , अपर प्रधान न्यायधीश शिवानी सिंह द्वारा  18, अपर प्रधान न्यायाधीश सुनीता शर्मा द्वारा 23 वादों का निस्तारण किया गया।

सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण न्यायाधीश श्री सौरभ कुमार वर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में आम जनता को परेशानियों से बचाने और जानकारी देने के लिए लोक अदालत परिसर में हेल्प डेस्क बनाया गया जिसमें पैरा लीगल वालंटियर शुभम राय, पुष्पेन्द्र, बंदना, साधना, सपना, मिथिलेश गंगवार, प्रभा, राजेश राय, रजत कुमार, तुषार, अंकुल, तरुण, अमित, पूजा सिंह, प्रभा, शाश्वत, सुधीर अग्रवाल, ज्वाला देव अग्रवाल, सत्यपाल सिंह के साथ जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बरेली के कर्मचारी बालक राम, शुभेन्द्र पाराशरी, एहसान खान, नौशाद अली, हेमेंद्र उपस्थित रहे।

राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने में समस्त न्यायिक अधिकारियों, बैंक-बीमा कंपनी के अधिकारियों, अन्य न्यायिक कर्मचारियों, पराविधिक स्वयं सेवकों तथा मीडिया कर्मियों का भी योगदान रहा ।

बरेली से ए सी सक्सेना ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper