रास्ते में फंसे हैं तो यूपी पुलिस का ये व्हाट्सएप नंबर करेगा आपकी मदद, अभी नोट कर लें

लखनऊ: कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन है. लगभग देश का हर नागरिक इस समय अपने घरों में कैद है. लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से डर कर घरों से नहीं निकल रहे हैं. ऐसे में उत्तर प्रदेश पुलिस ने इमरजेंसी नंबर 112 के अलावा व्हाट्सएप नंबर भी जारी किया है. यूपी 112 के एडीजी असीम अरुण के मुताबिक पुलिस का इमरजेंसी नंबर 112 सभी जानते हैं. लॉकडाउन की स्थिति में इस नंबर पर लोड काफी बढ़ गया है. जिसके कारण नया व्हाट्सएप नंबर 7570000100 जारी किया गया है.

इस व्हाट्सएप नंबर के जरिए उन लोगों की मदद की जाएगी जो कहीं रास्ते में फंस गया हैं. असीम अरुण के मुताबिक इस नंबर पर वह सभी लोग जो कहीं रास्ते में फंस गए हैं या किसी को फंसा हुआ देखते हैं तो मदद की गुहार लगाई जा सकती है. तय फॉर्मेट में ही इस नंबर पर मदद मांगी जा सकती है.

ऐसा है फॉर्मेट

नाम, मोबाइल नंबर, कहां फंसे हैं, कहां से आ रहे हैं, कहां जाना है इस क्रम में जानकारी दें. एडीजी असीम अरुण ने बताया कि पुलिस हर संभव मदद करेगी.

47 संक्रमित यूपी में

देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में अभी भी कमी नहीं देखी जा रही है. इसके मद्देनजर केंद्र और विभिन्न राज्यों की सरकारों ने लॉकडाउम को सख्ती से लागू करने का आदेश दिया है. आपको बता दें कि कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या देश भर में 700 पार कर चुकी है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper