राहुल अपनी नागरिकता की स्थिति 14 दिन में स्पष्ट करें : गृह मंत्रालय

नई दिल्ली: गृह मंत्रालय ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ब्रिटिश नागरिकता मामले में नोटिस जारी किया है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने यह आरोप लगाया था कि राहुल ब्रिटिश नागरिक हैं, जिसके बाद मंत्रालय ने उन्हें एक पखवाड़े के भीतर अपनी नागरिकता स्पष्ट करने के लिए कहा है। गृह मंत्रालय ने 29 अप्रैल की तारीख वाले एक पत्र में कहा कि राहुल ने बैकॉप्स लिमिटेड नाम की एक ब्रिटिश कंपनी द्वारा दाखिल किए गए सालाना रिटर्न में अपनी नागरिकता ब्रिटिश घोषित की है।

मंत्रालय ने 14 दिनों के भीतर इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष से जवाब मांगा है। पत्र में कहा गया, “आपसे अनुरोध किया जाता है कि इस नोटिस के मिलने के एक पखवाड़े के भीतर आप मामले में सही जानकारी दें।” भाजपा ने अप्रैल की शुरुआत में ब्रिटिश कंपनी के दस्तावेज का हवाला देते हुए यह मुद्दा उठाया था कि राहुल ब्रिटिश नागरिक हैं। भाजपा सांसद स्वामी ने उसी ब्रिटिश कंपनी के दस्तावेज का हवाला दिया।

स्वामी ने गृह मंत्रालय के समक्ष अपने बयान में आरोप लगाया था कि राहुल ने ब्रिटिश फर्म बैकॉप्स लिमिटेड के निदेशकों में से एक और सचिव के रूप में कार्य किया, जोकि ब्रिटेन में 51 साउथगेट स्ट्रीट, विंचेस्टर, हैम्पशायर पते के साथ 2003 से पंजीकृत है। पत्र में लिखा गया है, “शिकायत में आगे कहा गया है कि 10 अक्टूबर, 2005 और 31 अक्टूबर, 2006 को दाखिल कंपनी की सालाना रिटर्न में आपकी (राहुल गांधी) जन्मतिथि 19 जून, 1970 बताई गई है और आपने अपनी नागरिकता ब्रिटिश नागरिक के रूप में घोषित की है।”

पत्र में यह भी कहा गया कि 17 फरवरी 2009 को ब्रिटिश कंपनी से अलग होने के आवेदन में राहुल की नागरिकता का जिक्र ब्रिटिश के रूप में किया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper