रूस के पास बचा है सिर्फ 14 दिन का गोला-बारूद! कीव अभी भी ‘सुरक्षित’, क्या छिड़ जाएगा न्यूक्लियर वॉर?

नई दिल्ली: रूस की ओर से यूक्रेन पर किए जा रहे 20 दिन बीत चुके हैं। दोनों देशों के बीच में तनाव दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है। हालांकि, दोनों देशों के बीच लगातार बातचीत भी जारी है। दोनों देशों में चल रहे जंग के बीच ब्रिटिश इंटेलिजेंस एजेंसीज के हवाले से कुछ खुफिया जानकारी सामने आई है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि रूस के पास अब केवल 14 दिन का गोला-बारूद बचा हुआ है। ऐसे में अगर दोनों देशों के बीच युद्ध ज्यादा दिन तक चला तो स्थिति और खराब हो सकती है। कहीं ऐसा न हो कि न्यूक्लियर वॉर छिड़ जाए? युद्ध के 20वें दिन भी रूसी सेना यूक्रेन की राजधानी कीव पर कब्जा नहीं कर पाई है। रूसी सेना कीव शहर के नजदीक तो पहुंची है लेकिन यूक्रेनी सेना ने उन्हें बाहर ही रोक रखा है। हालांकि, रूस यूक्रेन के अन्य दूसरे शहरों पर बमबारी कर रहा है। ऐसे अगर यह युद्ध ज्यादा दिन तक चला तो स्थिति कुछ भी हो सकती है।

परमाणु हथियारों के मामले में टॉप पर है रूस
रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध को लेकर हाल ही में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस चिंता जाहिर करते हुए बयान दिया था कि रूस ने अपने न्यूक्लियर फोर्स को अलर्ट पर रखा है यानी दोनों देशों के बीच कभी चल रहा युद्ध कभी भी महायुद्ध का रूप ले सकता है। दुनिया में 9 देशों के पास परमाणु हथियार हैं। इनमें रूस और अमेरिका के बीच टक्कर है। आंकड़ों के हिसाब से रूस के पास अमेरिका से ज्यादा परमाणु हथियार हैं। रूस के पास 6256 तो अमेरिका के पास 5550 परमाणु हथियार हैं।

नाटो में शामिल नहीं हो सकता है यूक्रेन: जेलेंस्की
क्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने मंगलवार को कहा कि देश को पता है कि वह उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (NATO) में शामिल नहीं हो सकता। ब्रिटेन के नेतृत्व वाले संयुक्त अभियान बल (जेईएफ) के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए जेलेंस्की ने कहा कि ‘हमने नाटो के कथित रूप से खुले दरवाजे के बारे में वर्षों से सुना है, लेकिन ‘हम पहले ही सुन चुके हैं कि हम इसमें शामिल नहीं हो पाएंगे।’ उन्होंने कहा कि ‘यह सच है जिसे हमें पहचानना चाहिए, और मुझे खुशी है कि हमारे लोग इसे महसूस करना शुरू कर रहे हैं और खुद पर और हमारे सहयोगियों पर भरोसा कर रहे हैं जो हमारी मदद कर रहे हैं।’

मारियुपोल पर नियंत्रण का प्रयास हो गया विफल
यूक्रेन की सेना ने कहा कि उसने रूसी सेना द्वारा मारियुपोल पर नियंत्रण करने के प्रयास को सोमवार को विफल कर दिया और उन्हें पीछे हटने के लिए मजबूर कर दिया। उपग्रह से प्राप्त मैक्सार टेक्नोलॉजीज की तस्वीरों में शहर भर में जलती हुई आग दिखाई दे रही है, जिसमें कई ऊंची इमारतों को भारी नुकसान पहुंचा है या वे नष्ट कर दी गई हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper