रूस-यूक्रेन के युद्ध के बीच किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया को चौंकाया, किया बड़ा मिसाइल परीक्षण

प्योंगयांग। रूस का यूक्रेन पर आक्रमण जारी है। इस बीच उत्तर कोरिया ने शनिवार एक मिसाइल की टेस्टिंग कर अपने पड़ोसी देश दक्षिण कोरिया को डरा दिया है। दक्षिण कोरिया की सेना ने कहा है कि इस साल परमाणु हथियारों से लैस इस देश ने नौवां संदिग्ध हथियार परीक्षण किया है। सियोल के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने एक बयान में और ब्योरा दिए बिना कहा, “उत्तर कोरिया ने पूर्व की ओर एक अज्ञात प्रक्षेप्य दागा है।”

प्योंगयांग ने जनवरी में सात हथियारों का परीक्षण किया था। इसमें 2017 के बाद से अपनी सबसे शक्तिशाली मिसाइल को भी शामिल किया था। इस दौरान किम जोंग उन ने तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को उत्तेजक प्रक्षेपणों के साथ उकसाया था। तब से दोनों देशों के बीच कूटनीति सुस्त रही है। अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों के बावजूद प्योंगयांग ने सैन्य बहाली को दोगुना कर दिया है। जनवरी में उत्तर कोरिया ने लंबी दूरी और परमाणु हथियारों के परीक्षण पर लगाए गए प्रतिबंधो को नहीं मानने की धमकी दी थी।

प्योंगयांग ने सोमवार को कहा कि सियोल द्वारा बैलिस्टिक मिसाइल लॉन्च का पता लगाने के एक दिन बाद उत्तर कोरिया ने एक टोही उपग्रह विकसित करने की दिशा में परीक्षण किया था। विश्लेषकों ने व्यापक रूप से भविष्यवाणी की थी कि प्योंगयांग अधिक परीक्षणों के साथ यूक्रेन पर रूस के आक्रमण पर संयुक्त राज्य अमेरिका की व्याकुलता को भुनाने की कोशिश करेगा। उत्तर कोरिया ने पिछले महीने संयुक्त राज्य अमेरिका को यूक्रेन संकट के लिए जिम्मेदार ठहराया था।

अचानक किया गया आक्रमण
आपको बता दें कि दक्षिण कोरिया बुधवार को अपना अगला राष्ट्रपति चुनने के लिए तैयार है। उससे ठीक पहले प्योंगयांग ने यह टेस्टिंग की है। पीपुल पावर पार्टी के पूर्व अभियोजक यूं सुक-योल ने जरूरत पड़ने पर दक्षिण कोरिया के परमाणु-सशस्त्र पड़ोसी पर हमले की धमकी दी है। आपको बता दें कि बाइडेन की सरकार बनने के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका ने बार-बार उत्तर कोरियाई प्रतिनिधियों से मिलने की इच्छा व्यक्त की है। प्योंगयांग इसे खारिज करता आ रहा है।

उत्तर कोरिया अप्रैल में दिवंगत संस्थापक किम इल सुंग के जन्म की 110वीं वर्षगांठ मनाने की तैयारी कर रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि प्योंगयांग एक प्रमुख हथियार परीक्षण करने के अवसर के रूप में इस दिना का उपयोग कर सकता है। विशेषज्ञ वेबसाइट 38 नॉर्थ द्वारा विश्लेषण की गई हालिया उपग्रह तस्वीरों से पता चलता है कि इस दिन को चिह्नित करने के लिए अपने हथियारों का प्रदर्शन करने के लिए एक सैन्य परेड की तैयारी कर रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper