रूहेलखंड विश्वविद्यालय एवं सी आर सी चैरिटेबल ट्रस्ट के मध्य समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित

बरेली: रूहेलखंड इन्क्यूबेशन फाउंडेशन, महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखण्ड विश्वविद्यालय, बरेली तथा चौधरी रमेश चन्द चैरिटेबल ट्रस्ट, मीरपुर, ट्रोनिका सिटी, गाजियाबाद के मध्य एक समझौता ज्ञापन (Memoranding of Understanding) हस्ताक्षरित किया गया |

उपरोक्त समझौता ज्ञापन (MoU) रुहेलखण्ड इन्क्यूबेशन फाउंडेशन (RIF) के मुख्य परिचालन अधिकारी (COO) डॉ. यतेन्द्र कुमार, तथा चौधरी रमेश चन्द चैरिटेबल ट्रस्ट (CRCCT) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) श्री संजीव ढाका जी के द्वारा महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखण्ड विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रो. कृष्ण पाल सिंह जी की गरिमामयी उपस्थिति में हस्ताक्षरित किया गया |

रुहेलखण्ड इन्क्यूबेशन फाउंडेशन, महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखण्ड विश्वविद्यालय, बरेली तथा चौधरी रमेश चन्द चैरिटेबल ट्रस्ट, मीरपुर, ट्रोनिका सिटी, गाजियाबाद के मध्य किये गए समझौता ज्ञापन का मुख्य उद्देश्य केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार की सीएसआर कार्यक्रम व् अन्य महत्वपूर्ण योजनाओ को क्रियान्वित करना होगा ।

समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित होने के दौरान महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखण्ड विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. राजीव कुमार, रुहेलखण्ड इन्क्यूबेशन फाउंडेशन (RIF) के डायरेक्टर प्रो० संजय मिश्रा एवं प्रो० शोभना सिंह, विश्वविद्यालय के अकादमिक संकायध्यक्ष प्रो० शरद कुमार पाण्डेय, सामाजिक एवं कॉर्पोरेट संबंध निदेशालय के निदेशक प्रो० संजय कुमार गर्ग; विश्वविद्यालय के क्रीड़ा सचिव प्रो० आलोक श्रीवास्तव, एवं आरआईएफ इन्क्यूबेशन मैनेजर सुश्री शुभी अग्रवाल; इन्क्यूबेशन एग्जीक्यूटिव ऑफिसर श्री रोबिन कुमार, तथा कार्यालय सहायक श्री उमेश राठौर उपस्थिति रहे |

बरेली से ए सी सक्सेना ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper